दरभंगा के आईएफएस अधिकारी फिर विवादों में घिरे

573
0
SHARE

दरभंगा: एक करोड़ दहेज़ नहीं मिलने के कारण शादी से इंकार करने वाले आईएफएस अधिकारी अमित मिश्रा एक बार फिर आरोपो के घेरे में है। इस बार उनपर एक इंजिनियर छात्र के अपहरण करने का आशंका जताया गया है। मज़े की बात यह है कि इसबार भी आरोप लगानेवाला वही परिवार है जिसने एक करोड़ दहेज़ नहीं देने के कारण अमित मिश्रा शादी तोड़ने का आरोप लगाते हुए उनके ऊपर 2006 में लहेरियासराय थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई थी।

हलांकि वह मामला आज भी दरभंगा की अदालत में चल रही है। अब पीड़ित परिवार को शक है कि केस को प्रभावित करने और डराने तथा केस उठाने के कारण ही अमित मिश्रा और उनके परिवार वाले इनके इंजिनियर बेटे का अपहरण भी कर सकते है।

दरअसल दरभंगा के बंगाली टोला मोहल्ले में रहनेवाले इंजीनियर शंकर कुमार झा का बीटेक पास इंजीनियर बेटा ज्ञानवर्धन पिछले 6 अक्टूबर को साइबर कैफे जाने के लिए निकला जो अब तक लौट कर घर वापस नहीं आया। लापता ज्ञानवर्धन का मोबाइल नंबर भी लगातार बंद आरहा है। ऐसे में किसी अनहोनी और आशंकाओं से डरे सहमे परिजन ने आखिरकार इसकी जानकारी पुलिस को भी दी। जिसमें उन्होंने अपने बेटे की अपहरण की आशंका होने का शक जताया।

साथ ही एक पुलिस अधिकारी को दिए अपने लिखित बयान में साफ कहा कि इनके बेटे के अपहरण की साजिस में आईएफएस अमित मिश्रा, देवचन्द्र मिश्रा, अभय मिश्रा और वसंत कुमार झा शामिल है। यही नहीं पुलिस को दिए आवेदन में शंकर कुमार झा ने पिछले केस का भी जिक्र करते हुए यह आरोप लगाया कि 2006 से ही बराबर उनके परिवार पर आरोपी परिवार द्वारा आपराधिक साजिश रचता रहा है।