दारोगा बनने की चाहत ने ले ली एक युवक की जान

205
0
SHARE

पटना – दारोगा बनने की चाहत लेकर सुबह-सुबह पसीना बहाने पटना के राजेन्द्र नगर स्थित मोइनुल हक स्टेडियम आये युवक को क्या पता था कि उसकी यह चाहत अधुरी ही रह जाएगी। अनजाने में गोलीबारी का शिकार युवक जिंदगी और मौत से जूझता हुआ आखिरकार दम तोड़ ही दिया। यह पूरा मामला गुरूवार की सुबह का है, जहां अपराधियों की ताबड़तोड़ फायरिंग से पूरा इलाका थर्रा गया। वहीं इस फायरिंग में दारोगा बहाली की फिजिकल ट्रेनिंग ले रहे एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई।

खबरों के मुताबिक मोइनुल हक स्टेडियम में दो व्यक्ति आशीष और राहुल अलग-अलग फिजिकल परीक्षा की ट्रेनिंग देते हैं। राहुल के कई अभ्यर्थियों ने आशीष से ट्रेनिंग लेना शुरू कर दिया। जिसके बाद दोनों में तनातनी बढ़ गई। इसके पहले राहुल ने आशीष को धमकी दी थी कि वो कहीं और जाकर ट्रेनिंग दे, लेकिन आशीष ने उसकी बात नहीं मानी। जिसके बाद दहशत फैलाने के इरादे से बदमाशों ने गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया। इसी अफरा-तफरी में ट्रेनिंग ले रहे अमर को गोली लग गई, जिससे उसकी मौत हो गई। इस गोलीबारी में दो अन्य लोग उदय प्रसाद तथा संजीत कुमार घायल हो गए। मृतक अमर सहरसा जिले का निवासी है। जबकि दोनों घायल नवादा के अकबरपुर के निवासी हैं।

बता दें कि घटनास्थल से कदमकुआं थाना चंद दूरी पर ही है। लेकिन पुलिस को मामले की जरा भी भनक नहीं लगी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच मुआवना किये। घटनास्थल के पास मौजूद सीसीटीवी फुटेज से छः अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया। एसएसपी मनु महाराज ने कर्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में एएसआई अरूण पासवान को निलंबित कर दिया।