दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री तोमर की डिग्री होगी रद्द

652
0
SHARE

पटना: दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जीतेंद्र सिंह तोमर की फर्जी डिग्री मामले में तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय ने तोमर की डिग्री रद्द करने का निर्णय लिया है। शुक्रवार को कुलपति कार्यालय में परीक्षा बोर्ड की बैठक पर इसपर सहमति बनी। सिंडिकेट से पारित होने के बाद राजभवन को डिग्री रद्द करने के लिए भेज दिया जायेगा।

बैठक में तोमर को फर्जी डिग्री जारी करने वाले 14 अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी। इसमें मुंगेर के विश्वनाथ सिंह विधि संस्थान के एक शिक्षक व एक क्लर्क के अलावा तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के 12 कर्मी शामिल हैं।

अनुशासन समिति के अध्यक्ष और कुलपति प्रो. रमाशंकर दुबे और अन्य सदस्यों ने 14 लोगों में से दो के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। साथ ही दो लोगों को सस्पेंड, चार कर्मचारियों से परीक्षा से संबंधित कार्य नहीं कराने पर सहमति बनी। मामले को अनुमोदन के लिए भी सिंडिकेट की बैठक में रखा जाएगा। कार्रवाई की अंतिम प्रक्रिया राजभवन से होगी।

इस बैठक में कुलसचिव डॉ आशुतोष प्रसाद, सीसीडीसी डॉ अरुण कुमार मिश्रा, डॉ एसके पांडेय, डॉ पवन कुमार पोद्दार शामिल थे। वहीं अनुशासन समिति की बैठक में कुलसचिव व सीसीडीसी के अलावा डॉ हरपाल कौर, प्रो शंभू प्रसाद सिंह, डॉ एसके पांडेय व डॉ क्षमेंद्र सिंह आदि थे।