दिवंगत पत्रकार गंगेश झा पंचतत्व में हुए विलीन, पुत्र ने दी मुखाग्नि

427
0
SHARE

मुकेश कुमार सिंह

सहरसा – दिवंगत पत्रकार गंगेश झा पंचतत्व में हुए विलीन। पैतृक आवास सौरबाजार के भवटिया गांव में हुआ अंतिम संस्कार,कई गणमान्य रहे मौजूद। इसी के साथ बेबाक लेखनी के एक प्रखर प्रहरी के कलम का सफर हुआ खत्म।पूरे पत्रकार जगत में दौड़ी शोक की लहर।

कलम की बेबाक पंक्तियों में जान फूंकने वाला प्रखर प्रहरी के अंतिम सफर का गवाह बने कई पत्रकार व गणमान्य लोग।सभी ने अंतिम दर्शन कर नम आंखों से दी विदाई। सहरसा, सुपौल, मधेपुरा जिले के दैनिक सन्मार्ग के जिला प्रभारी जाने-माने पत्रकार सौरबाजार प्रखंड के भवटिया गांव निवासी गंगेश झा का हृदयगति रुकने से शुक्रबार देर शाम उनके अपने पैतृक गांव में अपने आवास पर निधन हो गया। शनिवार दोपहर पैतृक गाँव भवटिया में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनके जेष्ठ पुत्र अमित कुमार ने उन्हें मुखाग्नि दी।

55 वर्षीय गंगेश झा अपने पीछे बूढ़ी माँ, पत्नी समेत तीन पुत्र को छोड़ इस दुनियां को अलविदा कर गए। इस दुख की बेला में पूर्व विधायक किशोर कुमार मुन्ना एवं पूर्व विधायक संजीव झा समेत ऑलइंडिया रिपोटर एसोसिएसन के प्रदेशअध्यक्ष सुमन मिश्रा एवं जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह, उपाध्यक्ष पत्रकार मुकेश कुमार चुन्नू, राजीव झा, सरफराज एवं कई समान्नित पत्रकार रहे मौजूद।

बताते चले कि स्व. झा आज के इस आधुनिक पत्रकारिता दौर के सीधे साधे मृदभाषी स्वतंत्र विचार एवं स्वच्छ लेखनी के प्रखर प्रहरी के साथ -साथ सामाजिक सरोकार से जुड़े रहने का मादा भी रखते थे। पत्रकारिता जीवन मे उन्होंने दैनिक हिंदुस्तान, दैनिक जागरण सहित दर्जनों अखबारों में अपनी सेवा दे चुके थे। फिर भी उनके सादगी का कोई मिसाल नही था। वर्तमान समय में वे दैनिक सन्मार्ग व दैनिक सोनभद्र एक्सप्रेस के सहरसा, सुपौल, मधेपुरा के प्रभारी के तौर पर कार्य कर रहे थे। दर्जनों पत्रकार को पत्रकारिता जगत में मार्ग दर्शन देकर आगे बढ़ाने वाले गंगेश झा एक जीवंत पत्रकार थे।

उनके निधन की खबर सुनते ही पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गयी।सभी शोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें श्रधांजलि अर्पित करते नजर आए। आज उनके निधन से पत्रकार जगत में एक अपूर्णीय क्षति हुई है।