दीपावली में मिट्टी के दिए हो रहे विलुप्त

237
0
SHARE

लखीसराय- आगामी दीपावली को लेकर सोशल मीडिया पर कई प्रकार के संदेश वायरल हो रहे है और जो खास संदेश है। वो दीपावली में मिट्टी के दीये जलाने को लेकर है। जिसे काफी पसंद किया जा रहा है। विज्ञापन के माध्यम से लोगों को दीपावली में मिट्टी के दीये को अपनाकर भारतीय संस्कृति से अवगत कराने की कोशिश की जा रही है।

इस संबंध में प्रखंड के संग्रामपुर पंचायत के मुखिया उमेश महतों दीपावली की शुभकामनाएँ देते हुए कहते है की भारतीय होने के नाते हमारा फर्ज बना है की हमलोग स्वदेशी बने और उसे अपनाएं। वे आगे कहते है की दीपावली के पूर्व मिट्टी के दीये बनाने वाले गरीब कुम्हार को लोगों से काफी उम्मीदें होती है की उनकी बनाये दीये से उनके परिवार और बच्चें भी ख़ुशी के दिवाली मना सके। परन्तु कुछ वर्षों से चायनीज लाइटें आ जाने से लोग उसके प्रति ज्यादा आकर्षित हो रहे है।

जिसके कारण उनको मेहनताना नहीं मिल पा रहा है। जिससे की गरीब कुम्हार समुदाय के लोगों के ऊपर आर्थिक संकट खड़ा हो जाता है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा की हर बार आप अपनी खुशियों की दिवाली मनाते रहे है लेकिन इस बार गरीब कुम्हार के बच्चों की खुशियों के साथ दिवाली मनाएं।

भलुई पंचायत के पूर्व मुखिया उपेंद्र वर्मा कहते है की दीपावली के मौके पर काफी विस्फोटक पटाखे फोड़े जाने लगे है। जिससे की पटाखे से निकलने वाले रसायनिक धुंए से वायु तथा ध्वनि प्रदूषण काफी बढ़ जाती है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा की इस पर्व के मौके पर दुकानों में बनने वाली मिठाई की शुद्धता पर हमेशा अंगुली उठती रही है। जिसके खाने से बीमारी होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। इसलिए अपने घरों में बनाएं मिठाई का उपयोग करें तथा इस दीपावली में स्वदेशी सामानो का उपयोग कर खुशियों की दिवाली मनायें। मिट्टी कारीगरों की उम्मीदें जगी सजने लगी दीया एवं मिट्टी के खिलौने की दुकान।