दुष्कर्म पीड़िता को परिवार सहित जान से मारने की धमकी

243
0
SHARE

सहरसा – दुष्कर्म की शिकार महिला सहित परिवार को मिल रही जान से मारने की धमकी। थाने में दर्ज़ मामले को उठाने एवं दिये गये बयान को वापस लेने नहीं तो जान से हाथ धोने की मिल रही है धमकी। इतना ही नहीं इस मामले में दोषी दुष्कर्मियों ने पीड़िता के ससुर को दो दिनों तक अपहृत कर रखा। दो दिनों के बाद अपने बेटा व बहू को मामला दबाने के सशर्त पर रिहा किया। धमकी से खौफजदा पीड़िता और परिवार वालों ने पुलिस अधीक्षक से अपने जानमाल की सुरक्षा की लगायी गुहार। 

दरअसल घटना 25 फरवरी की ही है जब एक दरिंदे भतीजा और चाची के रिश्तों की दीवार को तार-तार करते हुए चालीसबिघि बहियार में लगे मकई के खेत में घास काट रही चाची के साथ सुनसान देख उसका भतीजा अजीत यादव पीछे से हथियार सटाकर मुंह बंदकर पटक कर जोर जबर्दस्ती घंटों उसके साथ मुँह काला करता रहा। वहीं पीड़िता जब इस बाबत विरोध जताई तो जान से मारने और मुंह बंद रखने की धमकी भी दी। साथ ही कहा किसी को बोलोगी तो जान से मार देंगे। यह घटना सहरसा जिले के सलखुआ थाना क्षेत्र के चिरैया ओपी के डेंगराही गाँव की हैं।

घटना के बाद पीड़िता जब स्थानीय ओपी में मामला दर्ज़ करवाने गयी तो वहां मामला दर्ज़ करने के बजाय पंचायत कर मामला रफादफा करने का सलाह दिया गया। वहां से पीड़िता जिले के महिला थाना पहुंची जहाँ पर मामला दर्ज़ कर अनुसन्धान प्रारंभ किया गया। इसी से आहत होकर अब शातिर अभियुक्तों द्वारा मामला को दबाने के लिये धमकी का सहारा लेना शुरू कर रहे। इसी से खौफ खाकर पीड़िता और परिवार वाले अपनी सुरक्षा का गुहार लगाने एसपी कार्यालय पहुँचे। इनलोगों को जहाँ आरोपी अभियुक्तों द्वारा हथियार का खौफ दिखा कर मामला वापस लेने एवं पीड़िता को बयान से मुकरने का दबाव बना रहा है। वहीँ दूसरी ओर पीड़िता के ससुर को भी जबरन उठाने की बात कह रहे। मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रभारी पुलिस अधीक्षक ने त्वरित कार्रवाई करने का आश्वासन देते हुए सम्बंधित थाना को निर्देश दिया।