देश को आगे ले जाने के लिए शराबमुक्त भारत की जरुरत: नीतीश कुमार

910
0
SHARE

सुपौल: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी निश्चय यात्रा के चौथे चरण में आज सुपौल में चेतना सभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश को आगे जाने के लिए शराबमुक्त भारत की आवश्यकता है और इसके लिए सामाजिक सहयोग जरूरी है। उन्होंने कहा कि बिहार की छवि को बिगाड़ते रहे हैं जबकि दिल्ली की तुलना में बिहार में अपराध कम है।

साथ ही उन्होंने परोक्ष रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा है कि हम जुमलों पर नहीं। बल्कि काम करने में भरोसा रखते हैं।

नीतीश कुमार ने कहा कि देश में सर्वाधिक युवा आबादी बिहार में निवास करता है। उन्होंने चेतना सभा में कहा कि बिहार में सरकार की ओर से लागू की गयी स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना लाभकारी है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में शिक्षण संस्थानों की कमी और पारिवारिक निर्धनता को दूर किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में लागू किये गये लोक शिकायत निवारण कानून से लोगों को उनका अधिकार मिला है। इससे लोगों को शिकायतों का कानूनी समाधान का अधिकार मिला है और लोगों की शिकायतें दूर की जा रही हैं। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सिर्फ कड़े कानून से ही काम नहीं चलेगा। बल्कि इसके लिए सामाजिक सहयोग भी जरूरी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में महिला आरक्षण लागू करना राज्य सरकार की देशव्यापी पहल है। उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा के क्षेत्र में बिहार प्रगतिशील है और इसमें आगे भी सुधार किया जायेगा। इसके लिए सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

चेतना सभा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि वे सुपौल में लोक शिकायत निवारण कानूनके तहत किये जा रहे कामों को देखने के लिए यात्रा की है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार जो भी काम करती है। वह पूरी तैयारी के साथ करती है। उन्होंने कहा कि सात निश्चय योजनाएं महागंठबंधन सरकार का साझा कार्यक्रम है।

इसके पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को अपनी निश्चय यात्रा के चौथे चरण में सुपौल के बलहा गांव में तीन वार्डों के विकास कार्यों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री इस यात्रा के लिए बुधवार की देर रात 11 बजे ही सुपौल पहुंच गये थे।