देश बहुत ही गंभीर परिस्थिति से गुजर रहा है लखीसराय में जेएनयू नेत्री अमृता पाठक ने कहा-एक तरफ देश के तमाम शिक्षा संस्थानों पर हमले हो रहे हैं तो दूसरी तरफ लोकतंत्र खतरे में है

75
0
SHARE

लखीसराय – देश बहुत ही गंभीर परिस्थिति से गुजर रहा है ,एक तरफ देश के तमाम शिक्षा संस्थानों पर हमले हो रहे हैं तो दूसरी तरफ संविधान खतरे में है। आज शिक्षा और रोजगार को खत्म करने की लगातार कोशिश हो रही है। आज जेएनयू, जामिया, मिलिया, एम यू बीएचयू सहित दर्जनों संस्थानों महीनों से शिक्षा के अपने अधिकारों को बचाने के लिए सड़कों पर है। आज युवा दिवस है और सबसे अधिक युवाओं वाले इस देश को सरकार के द्वारा ही नफरत की आग में धकेला जा रहा है।

देश में लगातार असमानता, बेरोजगारी, महंगाई बढ़ती जा रही है। हर 2 घंटे पर 3 बेरोजगार युवक आत्महत्या कर रहे हैं, Ncrb के आंकड़ों ने यह खुलासा किया है। जानबूझकर देश में डर, अंधेरे और खौफ का माहौल पैदा किया जा रहा है, ताकि लोग सरकार के द्वारा बनाई गई गलत नीतियों को चुपचाप सहन कर सके। इस डर के बावजूद अगर कोई आवाज उठा रहा है तो उसे देशद्रोही बना कर जेल में डालना आम बात हो गई है।

तानाशाही रवैया के कारण देशभर में विरोध की आवाज और मुखर हो गई है। हमारी चुनी हुई सरकार आज तानाशाही की तरफ बढ़ती जा रही है।सरकार अगर सवालों से डरने लगे तो समझना चाहिए कि उनकी नीतियां जनविरोधी है यह सरकार सवालों से डरने के साथ-साथ सवाल करने वालों का बर्बरता से दमन भी कर रही है।

सरकार जनता का विश्वास खो चुकी है और आम जनता का ध्यान भटकाने के लिए NRC और CAA ऐसी चीजों को लेकर आई है। कमाल की बात है जिस वोटर आईडी ,आधार कार्ड से जनता ने सरकार को बनाया वह आज हमारे नागरिक होने का प्रमाण नहीं है तो सवाल है कि अगर उसी वोटर आईडी से बनी सरकार कैसे वैध हो सकती है, इसलिए सरकार को इस्तीफा देना चाहिए। भगत सिंह ,गांधी, फुले, आंबेडकर की धरती पर अमन और शांति बनाए रखने के लिए लोग सड़कों पर उतर चुके हैं।

उक्त बातें एआईएसएफ की राष्ट्रीय परिषद की सदस्यत जेएनयू नेत्री डॉक्टर अमृता पाठक ने नया बाजार धर्मशाला में एआईएसएफ आर एआईवाईएफ के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही। प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के राज्य सचिव रौशन कुमार सिन्हा, AIYF के जिला अध्यक्ष रंजीत पासवान, एआईएसएफ के जिला संयोजक बादल गुप्ता, संतोष आर्य, हकीम पासवान, विनोद कुमार मौजूद थे।