देश में 10 करोड़ से ज्यादा लोग ह्रदय रोग से पीड़ित- डॉ राजेश

222
0
SHARE

आदित्यानंद आर्य की रिपोर्ट

सीतामढ़ी : दिल का सबसे बड़ा दुश्मन तनाव है। आज इस बात की आवश्यकता है कि अपने दिल की आवाज सुने, दिल को स्वस्थ्य व दुरुस्त रखने के लिये तनाव को दूर भगाए। उपयुक्त बाते विश्व ह्रदय दिवस के अवसर पर लायंस क्लब सीतामढी युथ व आरोग्या फाउंडेशन फॉर हेल्थ प्रमोशन एवं कम्युनिटी बेस्ड रिहैबिलिटेशन संयुक्त तत्वाधान में आयोजित जागरूकता शिविर में आरोग्या के सचिव सह फिजियो चिकित्सक डॉ राजेश कुमार सुमन ने हॉस्पिटल रोड स्थित फिजियो केअर में उपस्थित मरीजों व उनके परिजनों को संबोधित करते हुए बताया।
WhatsApp Image 2017-09-29 at 5.24.12 PM
डॉ राजेश ने बताया कि ह्रदय के साथ होने बाली छेड़-छाड़ का ही नतीजा है कि आज विश्व भर में ह्रदय रोगियों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। एक अनुमान के अनुसार भारत में 10 करोड़ से ज्यादा लोग इस बीमारी की चपेट में है। पूरी दुनिया में हर साल 1.73 करोड़ लोगों की मौत इस बीमारी की वजह से हो जाती है, और अगर इन परिस्थितियों पर काबू नहीं रखा गया। तो 2020 तक हर तीसरे व्यक्ति की मौत ह्रदय रोग से होगी।

डॉ राजेश ने बताया कि जीवन शैली में सुधार लाकर इस से बचा जा सकता है। कम से कम प्रतिदिन आधे घंटे तक व्यायाम करना ह्रदय के लिए अच्छा है। सेहत के अनुरूप आहार का सेवन, नमक की कम मात्रा का सेवन, कम वसा बाले आहार, ताज़ी फलों व सब्जियों का प्रयोग, तम्बाकू व सिगरेट से परहेज, साथ ही ऑफिस या कार्य स्थल पर घंटो तक एक ही स्थिति में बैठ कर काम न करने की सलाह दी। मौके पर लायंस क्लब सीतामढ़ी युथ के अध्यक्ष डॉ अविनाश कुमार, सचिव मनीष कुमार, विनीता, ममता, चितरंजन, मरीज के परिजन व दर्ज़नो लोग उपस्थित थे।