नए जिलाधिकारी ने सत्तरघाट पुल के निरीक्षण पर महोत्सव के तिथि की घोषणा की

116
0
SHARE

मोतिहारी – विश्व प्रसिद्ध केसरिया बौद्ध स्तुप का नये जिलाधिकारी शीर्षत कपील असोक दर्शन करने पहली बार केसरिया पहुंचे। जहां बौद्ध स्तुप का दर्शन किया और विस्तृत जानकारी प्राप्त की। वहीं स्थानीय सत्तरघाट पर निर्माणाधीन पुल का निरिक्षण किया। इसके उद्घाटन समारोह के तिथि की घोषणा पर कुछ कहने से परहेज किया।

तत्पश्चात उद्घाटन समारोह के सभा स्थल का भी बारिकी से निरीक्षण किया। तथा अपने अधिनस्थ पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। वहीं सभा स्थल की निरीक्षण के पूर्व मैदान में उपस्थित स्थानीय क्रिकेटर के साथ एक ओवर का मैच भी खेला। जिसमे वे 13 रन बनाकर कैच आउट हो गए।

वहीं उन्होंने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि केसरिया स्तुप जिला सहित विश्व का महत्वपूर्ण स्थल है। इसकी विकास सहित जिले के पर्यटक स्थल के विकास की भी चर्चा की।वहीं उन्होंने कहा कि ये एएसआई (आरकिलोजीकल सर्वे ऑफ इंडिया) के देख रेख में है। इसके विकास के लिए केन्द्र सरकार से मदद मांगी जाएगी। स्तुप पर एडिसनल होमगार्ड की नियुक्ति पर भी चर्चा की।

उन्होंने बताया कि पुल निर्माण निगम के द्वारा प्रस्तावित पुल की उद्घाटन समारोह की तैयारी चल रही है। कार्य पूरा होते ही निर्माणाधीन पुल के उद्घाटन की तिथि की घोषणा कर दी जाएगी। इसके पूर्व डीएम असोक ने महोत्सवस्थल का निरीक्षण किया और प्रस्तावित महोत्सव के तिथि की घोषणा भी की।

वहीं उन्होंने बताया कि आगामी मार्च महिने की पहली सप्ताह 06,07 और 08 तारीख को होना सुनिश्चित हुआ है। इस मौके पर उप विकास आयुक्त अखिलेश कुमार यादव, अपर समहर्ता शशि शेखर चौधरी, चकिया एसडीओ बृजेश कुमार, डीसीएलआर आदित्य नारायण झां,केसरिया सीओ रंजन कुमार, सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।वहीं सुरक्षा व्यवस्था के कमान थानाध्यक्ष अमित कुमार ने अपने दल बल के साथ संभाल रखी थी।