नक्सली मुठभेड़ में एक और जवान शहीद

616
0
SHARE

कैमूर: जम्मु कश्मीर के उरी में हुए आतंकी घटना से अभी लोग उबरे भी नहीं थे कि छत्तीसगढ़ में फिर से हुए पुलिस- नक्सली मुठभेड़ में कैमूर के एक और जवान की गोली लगने से मौत हो गयी। कैमुर जिले के मोहनिया थाना क्षेत्र के देवकली गांव के निवासी उदय बताये गए हैं ये नागपुर के कोबरा बटालियन में 206वीं बटालियन में थे।

तीन माह पहले छत्तीसगढ़ मे पोस्टिंग हुआ था। 16 सितंबर को छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सलियों के साथ हुए मुठभेड़ में इनको गोली लगी और गंभीर हालत में इन्हें छत्तीसगढ़ के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन बुधवार को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

शहीद जवान का शव देर रात उनके गांव देवकली लाया गया। जहां सीआरपीएफ के डीआईजी, सीआरपीएफ कोबरा के डीआईजी और कैमुर एसपी ने शहीद को सलामी दे कर अन्तिम विदाई दी।

उदय कुमार सीआरपीएफ में 1994 में भर्ती हुए थे उनकी पत्नी ने बताया कि हमें 16 तारीख को सुचना मिली की सर्च ऑपरेशन में जाने के दौरान नक्सलियों से मुठभेड़ हुई जिसमे उदय को गोली लगी है। सुचना मिलने के बाद मैं छत्तीसगढ़ पहुंची जहां गोली लगने के बाद उनका अस्पताल में प्राथमिक इलाज के दौरान ही मौत हो गई।

उनके आठ वर्षीय बेटे का कहना है कि मैं भी बड़ा हो कर फौज में जाऊंगा और पिता के हत्यारे को जिन्दा नही छोडुंगा। सरकार से गुजारिश करूंगा कि वो भी उन लोगों को नहीं छोडे।

शहीद जवान के घर में मातम छाया हुआ है सभी लोगों का रो रो कर बुरा हाल है। शहीद जवान की बेटी ने कहा कि मेरी मां की मांग सुना हो गया लेकिन सरकार कोई ऐसा व्यवस्था बनाएं कि जो हाल मेरे पापा का हुआ वो हाल किसी और का ना हो सके।