नगर निगम कर्मियों के स्थायीकरण की मांग को स्वीकार कर उसपर अमल करे सरकार – मुकेश सहनी

110
0
SHARE

पटना : विकासशील इंसान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी ने पटना नगर निगम के दैनिक मजदूरों को काम से हटाने के फैसले को तानाशाही करार दिया है. उन्होंने कहा कि इस फैसले से पटना नगर निगम के करीब 4300 से ज्यादा दैनिक मजदूरों के परिवारों के समक्ष भुखमरी की स्थिति बन जाएगी. विभागीय मंत्री द्वारा 10 वर्षों से कार्यरत मजदूरों को स्थायी करने का आदेश दिया था. वहीं अब विभाग के सचिव ने दैनिक मजदूरों को हटाने के आदेश दिए हैं. सरकार आउटसोर्सिंग के जरिए निगम कर्मियों की नौकरी लेना चाहती है.

उन्होंने कहा कि निगम कर्मचारी सुबह से शाम तक शहर की साफ़-सफाई के काम में तल्लीन रहकर शहर को साफ़-स्वच्छ तथा सुन्दर रखने में अपना योगदान देते हैं. पटना नगर निगम के साढ़े चार हजार से ज्यादा मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है.

सन ऑफ़ मल्लाह ने दैनिक भास्कर ने छपी खबर का हवाला देते हुए कहा कि नगर निगम द्वारा हड़ताल कर रहे कर्मचारियों को अनुशासनात्मक कार्रवाई की धमकी देना दुर्भाग्यपूर्ण है. यह दर्शाता है कि सरकार द्वारा निगम कर्मियों के खिलाफ लगातार दमन का रवैया अपनाया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि हम निगम कर्मियों की मांगों के साथ हैं. सरकार अत्यंत शीघ्र निगम कर्मियों के स्थायीकरण की मांग को स्वीकार कर उसपर अमल करे. सरकार को निगम के कई सालों से काम कर रहे सभी मजदूरों को स्थायी करना चाहिए.