नटवर लाल गिरोह ने बैंक को लगाया चूना

360
0
SHARE

पटना / संवाददाता-

पटना में बैंक शाखाओं से खाताधारियों के डूप्लीकेट चेक बना कर और उसका हस्ताक्षर कर बैंक शाखा और खाताधारी को चुना लगाने वाले नटवरलाल गिरोह का पटना पुलिस ने भांडा फोड़ किया है | पटना के मालसलामी थाना क्षेत्र के कटरा बाजार इलाके के स्टेट बैंक शाखा से फर्जी चेक पर हस्ताक्षर कर मोटी रकम निकाल कर बैंक को चुना लगाया है | जिस पर कटरा बाजार स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक ने नटवर लाल गिरोह के खिलाफ मालसलामी थाने में मामला दर्ज कराया है | मामला दर्ज होते ही पटना सिटी एसपी पूर्वी के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित कर छान बीन शुरू कि गई | जिसमें पता चला की फर्जी चेक से निकासी की गई है। 6 लाख 50 हजार रुपया नटवर लाल गिरोह के द्वारा उपेन्द्र कुमार के खाते में डाला गया है और उस रुपए का उपयोग सोने की बिस्किट खरीदने में किया गया है | पुलिस ने इस मामले में जब उपेन्द्र कुमार को गिरफ्तार कर कड़ी पूछ-ताछ की तब पुलिसिया पूछताछ में सारी बातों का खुलासा हुआ |

बताया जाता है की बाढ़ के रहने वाले शिक्षक चितरंजन मिश्रा ने बाढ़ स्टेट बैंक शाखा में 6 लाख 50 हजार रुपये अपने खाते से फर्जी तरीके से निकासी का आरोप लगाया था | जांच के आधार पर पता चला की कटरा बाजार शाखा से फर्जी चेक द्वारा साढ़े छह लाख रुपये की मोटी रकम निकाली गई है | जिस पर कटरा बाजार शाखा के प्रबंधक ने मोटी रकम ट्रांसफर किये गए खाताधारी उपेन्द्र कुमार के खिलाफ थाने में मामला दर्ज कराया | जिसके आधार पर पुलिस ने उपेन्द्र कुमार को गिरफ्तार कर केस की गुत्थी सुलझा ली है। वही बैंक शाखा प्रबंधक की माने तो नटवर लाल गिरोह के लोग पुलिस को चकमा देने के लिए अलग-अलग राज्यों में नए लोगों को गिरोह में शामिल करते हैं और गैंग के नए सदस्य के खाते में फर्जी चेक का रूपया ट्रांसफर कर बैंक और खाताधारियों को चुना लगाते हैं | नटवर लाल गिरोह ने इसके पहले कोलकता के स्टेट बैंक से भी फर्जी निकासी की है | हालांकि की गिरोह के सभी सदस्य का चेहरा बैंक के CCTV फुटेज में कैद हो गया | वहीं पुलिस की माने तो कई बैंको में नटवर लाल गैंग ने फर्जी चेक द्वारा रुपए की निकासी की है। इसकी जांच की जा रही है | बैंक में लगे CCTV फुटेज और गिरफ्तार गिरोह के सदस्य के निशानदेही पर नटवर लाल गिरोह के सभी सदस्यों की जल्द गिरफ्तारी की जाएगी | फिलहाल पुलिस की टीम CCTV फुटेज को खंगालने में जुटी है |