नदी के कटाव से चिंतित प्रशासन

114
0
SHARE

मोतिहारी – शिवहर जिला से होकर बहने वाली नेपाली बागमती नदी के कटाव ने पूर्वी चंपारण जिला प्रशासन के मस्तिष्क पर चिंता की लकीरें खींच दी है क्योंकि मोतिहारी के अरेराज स्थित बाबा सोमेश्वर नाथ महादेव पर जलार्पण करने के लिए बागमती नदी के जिस घाट से काँवरिया जल बोझी करते हैं. उसी घाट पर बागमती का कटाव ज्यादा है और वहां तक पहुँचने का रास्ता भी काफी ख़राब है. लिहाजा, पूर्वी चंपारण जिला प्रशासन ने बागमती परियोजना के अधिकारियों से नदी के घाट को ठीक करने और कटाव को रोकने का जल्द उपाय करने का आग्रह किया है. जिसे लेकर जिलाधिकारी रमण कुमार और एसपी उपेन्द्र शर्मा ने जिले के देवापुर गाँव से सटे बेलवा घाट का निरीक्षण किया और घाट की स्थिति देख स्थानीय लोगो से भी मदद करने की अपील की. ताकि काँवरियो को कोई परेशानी नहीं हो.

इसके अलावा जिला प्रशासन स्थानीय स्तर पर शौचालय, पेयजल, बिजली की व्यवस्था कर रही है. साथ ही नदी में नाव और एनडीआरएफ की भी व्यवस्था की गई है. दरअसल, बिहार, उत्तर प्रदेश समेत पड़ोसी देश नेपाल के लाखों श्रद्धालु बेलवा घात से जल उठाते है और लगभग 90 किलोमीटर की दुरी तय करके अनंत चतुर्दशी के दिन अरेराज पहुँचते हैं. जहाँ सोमेश्वर नाथ पर जलाभिषेक करते है. जिसे लेकर पूरा जिला शिवमय हो जाता है.