नये साल पर अगर मचा धमाल तो थानेदारों पर होगी सख्त कार्रवाई : सीएम

763
0
SHARE

पूर्णिया: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी निश्चय यात्रा के तीसरे चरण के तीसरे दिन शुक्रवार को पूर्णिया में अपने संबोधन के दौरान राज्य के तमाम थानेदारों को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि नये साल के मौके पर बिहार में शराब पीकर बवाल मचाने की खबर आयी, तो संबंधित क्षेत्र के संबंधित थानेदारों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी। पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में आयोजित चेतना सभा में उन्होंने दो टूक लहजे में कहा कि हम जो काम करते हैं, पूरी तैयारी के साथ करते हैं। महागंठबंधन की सरकार बनने के साथ ही सात निश्चय को अमलीजामा पहनाया दिया गया. अब हम उसे देखने निकले हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अब विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ गयी है। प्रत्येक पंचायत में संकुल स्तर पर हाई स्कूल खोला जायेगा। स्कूल भवन की कमी के कारण पहले 12% बच्चे स्कूल नहीं जाते थे। भवन निर्माण से यह कम हुआ है। इसके पहले सीएम भवानीपुर की सुपौली पंचायत के ब्रह्मज्ञानी टोला पहुंचे। वहां उन्होंने सात निश्चय योजना की जानकारी ली। इसके बाद वह डीआरसीसी भवन पहुंचे, जहां जिला जा रहे कार्यों की जानकारी ली। चेतना सभा के बाद सीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक भी की।

पुलिस सेवा में महिलाओं को मिल रहा आरक्षण

चेतना सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने चुनाव के दौरान सात निश्चय की चर्चा की। कहा था कि महिलाओं को आरक्षण देंगे। पुलिस सेवा में पहले ही दे रखा था। अब हर जगह इसे लागू कर दिया। इसके अलावा हर घर नल का जल, हर घर शौचालय, हर गांव में गली का निर्माण, नाली का पक्कीकरण, हर घर बिजली, इन सभी घोषणाओं को लागू कर दिया गया है।

हमने युवाओं के लिए भी कार्यक्रम बनाया। हमारे युवा संसाधन की कमी के कारण आगे पढ़ नहीं कर पाते हैं। इसलिए 12वीं से आगे पढ़ने के लिए युवाओं को चार लाख रुपये का स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड दिया जायेगा। रोजगार की तलाश के लिए युवाओं को एक हजार का स्वयं सहायता भत्ता दो साल के लिए देंगे। युवाओं को व्यवहार कुशल बनाने के लिए संवाद कौशल कार्यक्रम शुरू किया। बोलने के साथ-साथ कंप्यूटर की जानकारी भी दी जायेगी। हर जिले में जिला निबंधन सह परामर्श केंद्र खोला गया है। अब किसी भी समस्या के लिए कहीं भी भटकने की जरूरत नहीं है। एक आवेदन दें, आपकी समस्या का निदान होगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 के अंत तक हर घर बिजली पहुंचा देंगे। सभी सरकारी कॉलेजों में मुफ्त वाइ-फाइ सुविधा जल्द शुरू कर दी जायेगी।

खुले में शौच करने से बढ़ती है बीमारी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि 90% बीमारी खुले में शौच और शुद्ध पेयजल नहीं मिलने से होती है। इसके  लिए काम शुरू कर दिया गया है। हर जिले में इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलिटेक्निक की स्थापना की जा रही है। उन्होंने शराबबंदी को लेकर जीविका की दीदियों से सचेत रहने की अपील की। कहा कि आपकी मांग पर हमने शराबबंदी लागू कर दी। अब आपका फर्ज है कि इस पर सतत निगरानी रखें। कुछ लोग इधर-उधर से जुगाड़ में लगे रहते हैं। दूसरे राज्यों से भी मंगा लेते हैं। इस पर आपको भी नजर रखने की जरूरत है।

सीएम ने चुटकी लेते हुए कहा कि कुछ लोग शराबबंदी को अपनी आजादी से जोड़ लेते हैं। पर ऐसा नहीं है। माननीय  सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि शराब पीना मौलिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बाद खुशहाली आयी है। उन्होंने सात माह का आंकड़ा जारी करते हुए कहा कि अपराध कम हो गये हैं। लोगों की क्रय शक्ति बढ़ी है. पहले जो पीने में पैसे खर्च कर देते थे, अब घर के लिए सब्जी खरीद कर ले जाते हैं। दूध, मिठाई की बिक्री बढ़ गयी है। तीन चक्का वाहन, ट्रैक्टर आदि की बिक्री भी बढ़ी है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रशासन को पुराने शराब कारोबारियों पर नजर रखने को कहा। सीएम ने शराबबंदी के समर्थन में 21 जनवरी को आयोजित होनेवाली मानव शृखला में भाग लेने की अपील भी लोगों से की। राज्य में इस बार शराबबंदी कानून के दायरे में ही नये साल का जश्न मनेगा। इसे देखते हुए जिले से लेकर थाना स्तर की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है, ताकि इस बार नये साल का जश्न पूरी तरह से ‘ड्राइ’ ही रहे। शराब की तस्करी और अवैध व्यापार पर पूरी तरह से नकेल कसने के लिए पुलिस मुख्यालय ने सभी 40 पुलिस जिलों  और 1064 थानों को पूरी तरह से चौकस रहने का आदेश दिया है। किसी तरह के समारोह या जश्न में शराब का प्रयोग या हुड़दंग नहीं होना चाहिए।

अगर किसी थाना क्षेत्र में नये वर्ष के किसी भी आयोजन में शराब के उपयोग की बात सामने आती है, तो संबंधित थानाप्रभारी पर सख्त कार्रवाई की जायेगी। थानों को निर्देश दिया गया है कि इस मामले में कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। सभी एसपी को जिले में मौजूद सभी थाना क्षेत्रों का जायजा लेकर यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि किसी तरह से शराब की अवैध बिक्री और भंडारण नहीं किया गया है।

श्रोत: प्रभात खबर