नरेंद्र झा की आकस्मिक मृत्यु से बॉलीवुड में शोक की लहर

202
0
SHARE

फिल्म जगत के मशहूर कलाकार नरेंद्र झा का 55 वर्ष की उम्र में हार्ट अटैक से निधन हो गया. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वो अपने परिवार वालों के साथ कुछ वक्त बिताने फार्म हाउस गए थे. वहीँ आज सुबह यह दुखद घटना घटी. यह उनका तीसरा हार्ट अटैक था. इसके पूर्व भी उन्हें दो बार दिल का दौरा आ चुका था.

नरेंद्र का जन्म बिहार के मधुबनी जिले में 28 अप्रैल 1962 में हुआ था. उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई पटना से की थी. जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी से हिस्ट्री में उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन किया था. बिहार के लगभग सभी अभिभावकों की तरह इनके घर वाले भी इन्हें आईएएस बनाना चाहते थे. इनकी रूचि एक्टिंग में थी. इन्होंने दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से अभिनय में प्रशिक्षण लिया. उसके बाद मुंबई चले गए.

नरेन्द्र झा की कैरियर की शुरुआत 2002 में दूरदर्शन के शो आम्रपाली से की. उसके बाद कई सीरीयल जैसे शांति, चूना है आसमान, एक घर बनाऊंगा, बेगूसराय, रावण में नजर आए. टीवी के पौराणिक सीरीयल रावण में लीड रोल निभाया था. छोटे पर्दे के साथ बड़े पर्दे पर भी इन्होंने अपने एक्टिंग का जलवा खूब बिखेरा. अधूरी कहानी, मोहनजोदाडो, काबिल, रईस, हैदर जैसी फिल्मों में भी इन्होंने काम किया. 2003 में श्याम बेनेगल की फिल्म नेताजी सुभाषचन्द्र बोस में अहम किरदार निभाया था. बॉलीवुड में उनके काम को काफी सराहा गया और उन्हें एक गंभीर कलाकार के रूप में जाना जाता था.

2015 में नरेंद्र ने 52 वर्ष की उम्र में सेंसर बोर्ड की पूर्व सीईओ पंकजा ठाकुर से शादी की थी. एक इंटरव्यू रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने बताया था कि पंकजा से वो 2007 में मिले थे. 2009 में उन्होंने पंकजा को प्रपोज किया था लेकिन पंकजा ने 1 साल लगा दिया उसे स्वीकारने में.