नालंदा यूनिवर्सिटी की वीसी गोपा सब्बरवाल को मिला दूसरा सेवा विस्तार

970
0
SHARE

पटना: नालंदा विश्वविद्यालय राजगीर की कुलपति गोपा सभरवाल को विश्वविद्यालय की गवर्निग बॉडी ने और एक साल के लिए कार्य विस्तार दिया है। गवर्निग बोर्ड ने 25 नवंबर 2016 से एक साल के लिए या अगले कुलपति की नियुक्ति होने तक कार्यकारी व्यवस्था से एक्सटेंशन दिया है। सोमवार को इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई है।

सभरवाल नालंदा विश्वविद्यालय की संस्थापक कुलपति है। 25 नवंबर 2010 को उनकी नियुक्ति पांच साल के लिए की गई थी। 2015 में उन्हें एक बार एक्सटेंशन मिला था। अब दूसरी बार उन्हें कार्यविस्तार मिला है। दूसरी तरफ नालंदा विवि के पूर्व निदेशक निशिकांत तिवारी ने गवर्निंग बोर्ड के इस निर्णय पर आपत्ति जताई है।

इस बाबत श्री तिवारी ने सोमवार को विदेश मंत्रालय को पत्र भेजा है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि नालंदा विश्वविद्यालय एक्ट में दूसरी बार विस्तार का कोई प्रावधान नहीं है और गवर्निंग बोर्ड को भी यह अधिकार नहीं है कि वह गोपा सब्बरवाल को इस पद पर बरकरार रखे। उन्होंने विदेश मंत्रालय से कहा है कि गवर्निंग बोर्ड के इस निर्णय को वह तुरंत वापस ले ले।