नाव हादसे के लिए सारण डीएम, एसपी और पर्यटन निदेशालय दोषी !

246
0
SHARE

पटना: 14 जनवरी, 2017 को पटना के गंगा नदी में हुई नाव हादसे पर बनाई गई जांच समिति ने सरकार को रिपोर्ट सौंपी। आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत और पटना डीआईजी शालीन ने जांच की। इस जांच में बड़े पैमाने पर प्रशासनिक चूक का मामला सामने आया है।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि गंगा के पार जो लोग पतंग महोत्सव में गए थे उन्हें वापस लाने का उपाय नहीं किया गया। जितने मजिस्ट्रेट तैनात थे वो वहां मौज़ूद नहीं थे। नाव हादसे को रोकने की कोई कोशिश नहीं हुई। छपरा एसपी को ये भी नहीं पता था कि जहाँ गंगा किनारे पतंगबाज़ी हो रही है वो उनका इलाका था। पटना डीएम और एसएसपी को पूरी जानकारी नहीं थी। पर्यटन निदेशालय की बड़ी गलती भी सामने आई है। अखबार में विज्ञापन निकाल कर फ्री में गंगा पार ले जाया गया लेकिन वापस लाने का इंतज़ाम नहीं हुआ।