निफा़जे़ उर्दू सेमीनार सह सम्मान का हुआ आयोजन

330
0
SHARE

पूर्वी चम्पारण – ऐ पाक जरा सुन ले तू कानो को खोल कर, कशमीर हमारा है हमारा हीं रहेगा, के शायर से हिंदुस्तान जिन्दाबाद के नारे से पूरा महफिल गूंज उठा। उपस्थित सामेईन ने अपने-अपने जगह पर खड़ा हो कर शायरे इसलाम मौलाना तौकिर रजा इलाहाबादी के साथ सुर में सुर मिला कर पढ़ने लगे। यह मौका केसरिया नगर पंचायत के राजकिय मध्य विद्यालय स्थित इंडोर स्टेडियम के सभागार में रविवार को प्रो0 डा0 हातिम रामपूरी के यादगार में अवामी उर्दू निफा़ज़ पूर्वी चम्पारण के बैनर तले नेफा़जे़ उर्दू सेमिनार सह सम्मान समारोह का आयोजन का था।

वहीं उन्होंने अपने शायरी से शमा बांध दिया। मो0.जफर हबीब ने भी उर्दू पर प्रकाश डालते हुए शायर पेश की। उनके शायरों को सुनकर मोमीन झूम उठे और खूब तालीया बजाई।इस आयोजन को मौलाना मो0 जकी ने प्रो0 डा0 हातिम रामपूरी के जीवनी पर शायराना अंदाज में अपनी पेशकश कर लोगों को भाव विभोर कर दिया।

वहीं जदयू सेवादल के प्रदेश महासचिव सह कौमी एकता फ्रंट के अध्यक्ष वशील अहमद खां, जमीयत के जिला सचिव मौलाना जावेद कासमी, सैयद अकरम नूरी मौलाना अब्दूल कुदूश रजवी, मौलाना मकसूद आलम, शिक्षक मो0.नबीजान, मौलाना अख्तर, सेराजूल हक असर्फी, भाजपा के मोहिबूल्लाह खां, सैयद इम्तेयाज अहमद, राजद प्रखंड अध्यक्ष मो0 हातिम खां, जदयू प्रखंड़ अध्यक्ष चून्नू सिंह, भाकपा नेता नेजाम खां, राजेन्द्र सिंह, यूवा समाजसेवी ऋषि राज उर्फ नन्हे, जदयू नेता सूबोध कुमार पाठक, हेदायतूल्लाह, आप नेता सदाब अहमद खां, आरीफ अंसारी, सहित अन्य उल्माओं व गणमान्य लोगों ने प्रो0 डा0 हातिम रामपूरी के जीवनी पर प्रकाश डाला।

वहीं इसके पूर्व आगंतुक अतिथियों का स्वागत समारोह का आयोजन किया गया। इस महफिल में आये सभी अगत अतिथियो को फूल माला व शाल ओढ़ा कर सम्मानित किया गया। इस मौके पर पूर्व सरपंच बदरुल हक, बदरुल होदा, खूर्शिद आलम, असफाक खां, शिक्षक विश्वनाथ सिंह,अब्दूल मोबीन, मोती खान, मोमताज आलम, अली अहमद, काबीश नेयाज, मो0 रईश खां,प्रवेज खां,कामेश्वर प्रताप सिंह, लवकुमार यादव, मो0.याकूब, महबूब आलम, सलाम हासमी, औरंगजेब खां, सहित सैकड़ो सामईन अपस्थित थे।वहीं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अवामी उर्दू निफा़ज़ कमीटी के जिलाध्यक्ष हजरत मौलाना अनीसूर रहमान चिस्ति ने की।जबकि मंच संचालन मो0 सईद कादरी कर रहे थे।