नीतीश ने कहा मैंने अभिभावक खो दिया

134
0
SHARE

पटना – मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के रूप में देश ने सबसे बड़े राजनीतिक शख्सियत के साथ ही प्रखर वक्ता, कवि, लेखक, चिंतक, विचारक और करिश्माई व्यक्तित्व को खो दिया है। अटल बिहारी वाजपेयी ने उच्च राजनीतिक मूल्यों एवं आदर्शों की बदौलत सार्वजनिक जीवन में उच्चस्थ शिखर को प्राप्त किया।

नीतीश ने कहा कि उन्होंने अपने व्यक्तित्व की बदौलत राजनीतिक सीमाओं पर सभी विचारधारा की राजनीतिक दलों का आदर एवं सम्मान प्राप्त किया। अटल जी में सभी विचारधारा के लोगों को साथ लेकर चलने की अदभुत क्षमता थी। उन्होंने अपने जीवन में लोकतांत्रिक मूल्यों को सर्वोपरि रखा। उनके नेतृत्व में देश का चहुमुखी विकास हुआ तथा विश्व पटल पर एक सशक्त राष्ट्र के रूप में अपनी छवि स्थपित की। उन्होंने हमेशा साम्प्रदायिक सौहार्द एवं सामाजिक सद्भाव के मूल्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी।

मुख्यमंत्री ने अटल जी के निधन को व्यक्तिगत क्षति बताते हुए कहा है कि उन्होंने सदैव अटल जी का स्नेह एवं मार्गदर्शन प्राप्त होता रहा तथा उनसे सार्वजनिक जीवन में काफी कुछ
सीखने को मिला। उन्होंने कहा कि अटल जी के निधन से उन्होंने अपना अभिभावक खो दिया है।

मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शांति तथा सभी को इस दुःख की घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।