नीतीश मॉडल सर्वश्रेष्ठ – राजीव रंजन

47
0
SHARE

पटना जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा बिहार ने जो कुछ भी इन 15 वर्षों में हासिल किया है उसे हम बिहार के बढ़ते कदम कह सकते हैं। अगर हम आकड़ों की बात करे तो जब नीतीश कुमार जी सत्ता में आए तो बिहार में उस समय बजट का आकार 3000 करोड़ का योजना आकार था और कुल बजटीय व्यय 25000 करोड़ का था। जबकि वर्तमान स्थिति में कुल बजटीय व्यय 200000 करोड़ रुपए से बढ़ चुका है। यह एक बड़ी छलांग है।

उन्होंने कहा कि राज्य में अगर प्रति व्यक्ति आय के आकड़े को देखे तो 2005 के दौर से कई गुणी ज्यादा है। आज संसाधनों के अभाव में जो कुछ भी बिहार ने हासिल किया है वह देश के अन्य राज्यों के लिए एक मिसाल है। कृषि, आधारभूत संरचना एवं ऊर्जा के क्षेत्र में एक अप्रत्याशित छलांग राज्य ने लगाई है।

उन्होंने कहा कि इन सभी के पीछे एक दृढ़ निश्चयी एवं दूरद्रष्टा राजनेता मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की सोच, संकल्प और उनकी परिकल्पना थी जिसको जनसहयोग से जमीन पर उतारने का काम हुआ. बड़बोले वादे उन्होंने कभी नहीं किए। अगर उन्होंने कहा की बिहार को नई ऊँचाइयों पर पंहुचाएंगे तो यह बिहार की जनता को स्पष्ट दिखता है कि बिहार के प्रत्येक वर्ग के उत्थान के लिए वह सदैव प्रयत्नशील रहे हैं। बिहार लगातार कई वर्षों तक जीडीपी के ग्रोथ रेट में अव्वल स्थान पर रहा ।एवं पिछले 12 वर्षों में लगातार डबल डिजिट में राज्य ने ग्रोथ रेट दर्ज किया।

उन्होंने कहा कि बिहार जिन परिस्थितियों से जुझता रहा है, बाढ़ और सुखाढ़ जैसे जो प्राकृतिक आपदाएँ है और उनके बीच विकास की रफ्तार को निरंतर बनाएँ रखना एक बडी चुनौती थी। फिर भी विकास और न्याय का संतुलन बिहारवासियों को लगातार दिख रहा है। राज्य में केवल मुठ्ठी भर लोगों का नहीं बल्कि समाज के प्रत्येक तबके का विकास हुआ है। इसीलिए बिहार का यह जो माॅडल है, उसे हम नीतीश मॉडल एवं ष्न्याय के साथ विकास माॅडल कहते है। यह देश का सर्वश्रेष्ठ माडल है।