नेहा सिंघानिया का रिपोर्टर से कास्टिंग डायरेक्टर बनने का सफर

95
0
SHARE

मुंबई- नेहा सिंघानिया कास्टिंग की दुनिया में अब एक जानी-पहचानी नाम बन चुकी हैं। मुंबई में जन्मी तथा पली-बढ़ी नेहा ने मुंबई यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म की शिक्षा हासिल कर ज़ी न्यूज़ हिंदी से बतौर रिपोर्टर अपने करियर की शुरुवात की थी। बाद में इन्होने फ्री प्रेस जर्नल के लिए भी काम किया। बतौर जर्नलिस्ट कई वर्षो तक काम करने के बावजूद नेहा को वो मुकाम नहीं मिल पा रहा था जिनकी वो चाह रखती थी। फिर उन्होंने इवेंट मैनेजमेंट कंपनी ज्वाइन करने का मन बना लिया। इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में काम करते हुए इन्होने इंडियन टेली अवार्ड शो ऑर्गेनाइज़ किया। इस दौरान इन्हे प्रसिद्द टीवी सीरीज़ बालिका बधु के कास्टिंग टीम में काम करने का ऑफर मिला। नए- नए लोगों से वाद-संवाद करने की शौक़ीन नेहा को शायद इसी प्रकार की काम की तलाश थी। जो अब उन्हें मिल चूका था लेकिन फिर भी ज़िन्दगी कहाँ आसान होती है। जो काम मिला था उस पर खरा उतरना अपने आप में एक फाइट थी। खैर काम का सिलसिला जारी रहा और नेहा ने इस दौरान कई सीरियल्स जैसे इस प्यार को नाम दू , गंगा, तुम साथ हो जब अपने इत्यादि के लिए कास्टिंग किया।

नेहा ने गरिमा प्रोडक्शन हाउस ज्वाइन जिसमे चिड़िया घर, पिटर्सन हिल, नीली छतरी वाले, चलती का नाम गाडी, कृष्ण कन्हैया, सरस्वती चंद्र जैसे कई लाइट कॉमेडी शो के लिए काफी छानबीन कर के एक से एक कलाकारों का चयन किया। इस दौरान इन्होने कई नए लोगो को भी मौका दिया जो आज एक अच्छे मुकाम पर हैं। नेहा के अनुसार किसी भी रोल के लिए सबसे फिट कैरेक्टर ढूंढ़ना हमेशा ही चैलेंजिंग होता है लेकिन सोनी पर आने वाली शो ‘मेरे साई’ के लीड रोल के लिए कास्टिंग करना वाकई बहुत ही चैलेंजिंग था। अंततः इस रोल के लिए अबीर सूफी को कास्ट किया गया। इसके लिए क्रिएटिव टीम से नेहा को सराहना भी मिली। नेहा हर बार कुछ नया करने की कोशिश की हैं। इसलिए हमेशा लिक से अलग हटकर कास्ट करने की कोशिश करती है। इसी क्रम में इन्होने नविन प्रभाकर जैसे कॉमेडियन को सिरियस रोल के लिए कास्ट किया और सबसे ख़ुशी की बात यह है की इनका ये प्रयोग सफल रहा। नेहा की माने तो वो पिछले 6 साल से अलग-अलग सीरिअल्स के लिए कास्टिंग कर रही हैं।

सफलता की ओर अग्रसर नेहा, सी. एन. जी. फिल्म्स के बैनर तले बनी हिंदी फिल्म ‘गॉन केश’ के कास्टिंग करने के साथ ही अब फीचर फिल्म में भी एंकर कर चुकी हैं। गॉन केश के निर्देशक क़ासिम खलोव और डी. ओ. पी . अभी दांगे हैं। फिल्म के लीड कास्ट विपिन शर्मा और श्वेता त्रिपाठी हैं। यह फिल्म बनकर तैयार है जो संभवतः जुलाई में रिलीज़ होगी। नेहा का कहना है की – जिनके पास टैलेंट है उनके लिए सारे दरवाजे खुले रहते हैं। बस संघर्ष करते रहो एक न एक दिन कामयाबी ज़रूर मिलेगी। किसी भी इंडस्ट्री में अलग-अलग प्रकार के लोग होते हैं अच्छे भी हैं और बुरे भी। लेकिन आपको दोनों में फर्क समझने की ज़रुरत है। एक बात और आप जब भी गलत स्टेप लेंगे तो उस से पहले आपको अपने अंदर से एक संकेत मिलेगा की कहीं न कहीं आप गलत स्टेप ले रहे हो। फिर वहाँ पर कदम रोकने और उसमें सुधार करने की ज़रुरत होती है।