न्याय के लिए गुहार लगाती बुढ़ी मां

252
0
SHARE

मुकेश कुमार सिंह

बिहार में सुशासन की सरकार एक तरफ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा बुलंद कर रही वहीं दूसरी ओर दहेज प्रथा पर लगातार कानून पर कानून बना रही है। फिर भी सुशासन की सरकार ने दहेज के दानवो से बेटी की जान बचाने में कामयाब नहीं हो पा रही है। जी हाँ ये ताजा मामला बिहार के सहरसा जिले के बनगांव थाना क्षेत्र के मुरली बसंतपुर का है जहाँ बीते 19 जून को दहेज के दानव ने दो बच्चे की माँ नेहा कुमारी को फंदे से लटका कर मौत के घाट उतार दिया था।

बता दें कि मृतका के पिता की मौत के बाद माँ मुन्नी देवी जो सहरसा जिले के बलवा ओपी क्षेत्र के मोहनपुर गाँव की रहने वाली है। जो हिन्दू रीति रिवाज से 29 अप्रैल 2016 को अपने बेटी नेहा की शादी सहरसा जिले के बनगाँव थाना क्षेत्र के मुरली बसंतपुर में जटाशंकर झा के पुत्र रूपेश झा से बहुत ही धूम धाम से की थी।

शादी के महज कुछ ही दिन बाद नेहा को अपने घर से दहेज के बकाया राशि फ्रिज, मोटरसाइकिल की मांग करने को कहने लगा ओर उसके साथ मार पीट कर प्रताड़ित भी करना शुरू कर दिया। यह जानकारी नेहा ने अपनी मां को दिया तो बूढ़ी विधवा मां ने अपने बिधवा पेंसन के रुपए से फ्रिज के लिए रुपिया दिया फिर भी दहेज के दानव मानने को तैयार नहीं थे। फिर गाड़ी मांगने को लेकर नेहा के साथ पति रूपेश झा ओर परिवार के अन्य सदस्य भी प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

नेहा ने अपनी मां को सारी जानकारी दी तो माँ ने रुकने कहा था लेकिन नहीं मानने वाले दहेज के दानव महज कुछ ही दिन के बाद नेहा के पति ओर उनके ससुराल वालों ने नेहा को फाँसी के फंदा से लटका दिया और ससुराल वालों ने नेहा की माँ को सूचना दिया कि आपकी बेटी हत्या कर ली है। जब नेहा की माँ अपनी बेटी के ससुराल गई तो
देखी कि नेहा का शव फंदे से लटका हुआ है।

सूचना मिलने पर पुलिस घटना स्थल पर पहुंचकर लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाकर परिजन को सौंप दिया। उसके बाद नेहा की माँ के आवेदन पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की बात कही थी लेकिन महीने बीत जाने के बाद भी पुलिस अभी तक आरोपी को गिरफ्तार नही कर सकी है।

दहेज के दरिंदो को सजा दिलाने के लिये और उसकी गिरफ्तारी को लेकर नेहा की विधवा बुढ़ी माँ एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी से मिलकर गुहार लगा रही है। वहीं इस बाबत जब मीडिया ने एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी से सवाल किया कि महीनों बीत जाने के बाद अभी तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है,तो उन्होंने कहा कि थाना अध्यक्ष को बोल दिये हैं कि आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करो अगर गिरफ्तार नहीं होता है तो कुर्की जब्ती की कार्रवाई की जायेगी। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं की सुशासन बाबू की सरकार में पीड़िता को न्याय मिलना कितना नामुमकिन है।