न्याय मंच ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि मनाई

151
0
SHARE

पटना – 6 दिसंबर को स्थानीय राजवंशी नगर में न्याय-मंच ने संविधान निर्माता बाबा साहब भीम राव अंबेडकर की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित कर याद किया। कार्यक्रम की शुरुआत में मंच के सदस्यों द्वारा बाबा साहब अम्बेडकर की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित किया गया। मंच के इस कार्यक्रम की अध्यक्षता शायर डॉ. एहशान शाम, संचालन मंच के मीडिया संयोजक पवन राठौर एवं धन्यवाद ज्ञापन केशव पांडेय ने किया।

इस मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण समिति के सभापति सह विधायक ललन पासवान ने शिरकत करते हुए कहा कि बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर समता मूलक समाज के सबसे बड़े पैरोकार थे जिन्होंने सामाज़िक भेदभाव को दूर करने पर बल दिया। उनकी विद्वत्ता, प्रतिभा और काबिलियत को देखते हुए ही उन्हें संविधान बनाने वाली समिति का अध्यक्ष बनाया गया। इतना ही नहीं आजाद भारत के प्रथम कानून मंत्री भी बनाये गए। उनकी दूरदृष्टि का तो जवाब ही नहीं क्योँकि उस समय ही उन्होंने धारा 370 का विरोध किया था साथ ही साथ समान नागरिक संहिता के पक्षधर थे। बाबा साहब ने संसद में वर्ष 1951 में ही भारतीय महिलाओं को कई अधिकार प्रदान करने के लिए मसौदे को पेश किया लेकिन जब सहमति नहीं बन पाई तो इस्तीफा दे दिया इससे मालूम चलता है कि सच में उनके दिल -दिमाग मे महिलाओं के मान-सम्मान के लिए कितनी जगह थी।

कार्यक्रम को मुख्य रूप से सेवानिवृत्त अधिकारी ललन सिंह, समाजसेविका नीलिमा सिन्हा, अधिवक्ता एम्.आर.मल्लिक, बैंक अधिकारी दीपक सिंह, अभिषेक कुमार सिंह, सब्बीर, राज प्रकाश, सुमित श्रीवास्तव, हेना झा, चंद्रभूषण सिंह,बैजनाथ सिंह, संजीव कुमार सोलंकी, सुड्डू सिंह, आशीष कर्ण, विकाश कुमार, शुभम कुमार, मुकेश कुमार, संजय सिंह, आशुतोष कुमार, रौशन कुमार, सन्नी कुमार सिंह ,एस. आलम, एवं मंच के संयोजक मनोज लाल दास मनु ने संबोधित किया।