पटना ट्रैफिक पुलिस ने BTT और समाज सेवी संस्थाओं के साथ मिलकर शुरू किया यातायात जागरूकता अभियान

284
0
SHARE

पटना आज पटना ट्रैफिक पुलिस, बिहार ट्रेड टावर एवं समाजसेवी संस्थाओं के साथ मिलकर ट्रैफिक व्यवस्था को बेहतर करने, सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने और लोगों को यातायात के नियमों का पालन करने के लिए जागरूक करने हेतु एक जागरूकता अभियान लांच किया गया.

अभियान की शुरुआत करते हुए डिप्टी ट्रैफिक एसपी, पटना कुमार इन्द्रजीत प्रकाश ने कहा कि भारत में सड़क दुर्घटना में हर तीन मिनट में एक व्यक्ति की मौत हो जाती है. सड़क दुर्घटना के बाद पहला घंटा, गोल्डन पीरियड के रूप में जाना जाता है. अगर उस समय किसी घायल व्यक्ति को चिकित्सिय सहायता मिल जाए तो उसकी जान बच सकती है. प्रकाश ने कहा की यातायात को सुचारू करना सबकी सामूहिक जिम्मेवारी है और इसके लिए सभी को मिलकर प्रयास करना होगा. ट्रैफिक में लोग आम तौर पर बे वजह हॉर्न बजाते है इसका सीधा असर हमारे दिमाग पर होता है.

बिहार ट्रेड टावर के प्रबंध निदेशक नितिन सिन्हा ने कहा कि पुलिस विभाग के काम को अगर देखे तो वो सोशल कॉज के लिए हैं. पुलिस का जो नेटवर्क है वो सोशल चेंज कैटालिस्ट के रूप में काम करता है. किसी भी शहर का जब विकास होता है तो उसमें इंफ्रास्ट्रक्चर का बहुत ही महत्व होता है .

डॉ विकास कुमार ने कहा कि किसी दुर्घटना में किसी के परिजनों की मृत्यु हो जाती है और उस व्यक्ति से परिवार चल रहा होता है. हमारी छोटी छोटी गलतियाँ दूसरों के लिए जानलेवा साबित होती हैं. बेसिक यातायात के नियम हम सब नहीं फॉलो कर पा रहे हैं. तो यह एक पढ़े लिखे समाज के लिए शर्मनाक है.

इस अवसर पर एम के झा, डॉ अलोक कुमार, कुमार प्रिय रंजन, विक्रम घोष, शशि के साथ ही विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं के लोग उपस्थित रहें.