पटना विश्‍वविद्यालय के स्‍वर्णिम इतिहास को लौटाएगा जेएसीपी : सुजीत कुमार

260
0
SHARE

पटना – पटना विश्‍वविद्यालय छात्र संघ चुनाव 2018 के लिए आज चुनाव प्रचार का आखिरी दिन था, जो प्रेसिडेंशियल डिबेट के साथ संपन्‍न हो गया। इस दौरान जन अधिकार छात्र परिषद के अध्‍यक्ष पद के उम्‍मीदवार सुजीत कुमार ने अपनी बात पूरी मजबूती से रखते हुए कहा कि पीयूएसयू छात्र संघ चुनाव जीतने के बाद जन अधिकार छात्र परिषद की प्राथमिकता होगी विश्‍वविद्यालय में छात्रों की तमाम समस्‍याओं का समाधान कराना। इसके अलावा पीयू को सेंट्रल विवि का दर्जा, शिक्षकों की कमी, हर छात्रावास में लाइब्रेरी, जेंडर सेल, कॉलेजों में डिजिटल लाइब्रेरी, प्‍लेसमेंट सेल,छात्र – छात्राओं की सुरक्षा की संपूर्ण गारेंटी के साथ – साथ पटना विवि के ऐतिहासिक गौरवशाली इतिहास को पुन: स्‍थापित करने का काम जन अधिकार छात्र परिषद के सभी उम्‍मीदवार करेंगे।

उन्‍होंने कहा कि पटना विवि की अराजकता को पूरी तरह से खत्‍म करने का काम छात्र परिषद करेगी। पीयू कभी ईस्‍ट का ऑक्‍सफोर्ड हुआ करता था, जो कभी आईएएस हब हुआ करता था, हर साल यहां से आईएएस और आईपीएस की टीम निकलती थी। वही माहौल हम पटना विवि में फिर से स्‍थापित करने का काम करेंगे। इसलिए तमाम मतदाता छात्र – छात्राओं से अपील है कि आप इस चुनाव में संघर्ष करने वाले साथियों को जितायें, जो हमेशा छात्र हित में संघर्ष करते रहे हैं।

वहीं, जन अधिकार छात्र परिषद ने पीयू के सभी कॉलेजों में सघन जनसंपर्क अभियान चलाया गया और रोड शो कर छात्र परिषद के सभी उम्‍मीदवारों के पक्ष में वोट करने की अपील की। इस दौरान जन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश अध्‍यक्ष गौतम आनंद ने कहा कि छात्र परिषद संघर्ष का दूसरा नाम है। आज चुनावी मौसम में बहुत सारे मौसमी लोग दिखाई दे रहे हैं, जिन्‍हें छात्र और जनहित के सवालों से कोई सरोकार नहीं होता है। वे अपने आका की राजनीति चमकाने के लिए छल – बल का प्रयोग कर रहे हैं। साथियों, ऐसे लोगों से आज सावधान रहने की जरूरत है, क्‍योंकि चुनाव जीतने के बाद ये कॉलेज कैंपस में नजर नहीं आने वाले हैं।

उन्‍होंने कहा कि चुनाव का नतीजा चाहे जो भी हो, छात्र परिषद बिहार और विवि के सवाल पर हमेशा खड़ी रहती है। इसलिए हम अपील करते हैं कि भारी बहुमत से संघर्ष के साथी बनने वाले जन अधिकार छात्र परिषद के तमाम उम्‍मीदवारों को जितायें।

चुनाव प्रचार के दौरान छात्र परिषद के प्रदेश अध्‍यक्ष गौतम आनंद, प्रदेश उपाध्यक्ष मनीष यादव, प्रधान महासचिव आजाद चांद, प्रदेश सचिव अरविंद यादव समेत छात्र परिषद की ओर से बड़ी संख्‍या में छात्रों ने सघन जनसंपर्क कर जन अधिकार छात्र परिषद के उम्‍मीदवारों के लिए वोट मांगा और जीत का दावा किया।