पटना-हटिया एक्सप्रेस में लूटेरों ने मचाया तांडव

349
0
SHARE

जमुई – बीती रात पटना-हटिया एक्सप्रेस के तीन डब्बों में लूटेरों ने जमकर तांडव किया। इस दौरान यात्रियों के साथ मारपीट भी की गई और सभी यात्रियों से करीब 10 लाख से ऊपर की लूट की गई। जानकारी के अनुसार 25 की संख्या में आये लूटेरों के पास देशी कट्टा, रड, डंडा, कुल्हाड़ी और फरसा था। सभी की उम्र 20-25 के लगभग बताई जा रही है। यह घटना किउल जमुई रेलमार्ग के कुंदर हाल्ट के समीप हुई।

जानकारी के अनुसार लूटेरे पहले ही ट्रेन में बैठ गए थे और जैसे ही ट्रेन कुंदर हाल्ट के समीप पहुंची लूटेरो ने चेन खींच कर ट्रेन खड़ी कर दी। गाड़ी के रुकते ही लूटेरों ने घटना को अंजाम देना शुरू कर दिया। लोगों में दहशत फैलाने के लिए पहले लोगों की पिटाई की गई और फिर लूटपाट शुरू कर दिया। इस दौरान करीब 25 मिनट तक गाड़ी वहीं खड़ी रही लेकिन एक भी सुरक्षाकर्मी कहीं दूर-दूर तक नजर नही आये। इस कारण यात्रियों में भारी आक्रोश देखा गया। गाड़ी के झाझा पहुंचने पर यात्रीगण पुलिस अधिकारियों से भिड़ गए। उनके इलाज के लिए न तो चिकित्सक मौजूद थे और न ही पुलिसकर्मी ही तत्पर थे। जबकि फोन पर डीएसपी रेल ने झाझा में हर सुविधा मुहैया कराने का आश्वाशन दिया था।

बता दें कि किउल से जसीडीह का रेलमार्ग अपराधियो और नक्सलियों का सेफ ज़ोन कहलाता है। अधिकारी हर बार इस क्षेत्र में विशेष सुरक्षा की बात कहते हैं। लेकिन हकीकत आज खुद सबके सामने है। इतनी बड़ी घटना के वक़्त मौके पर एक भी सुरक्षाकर्मी की गैरमौजूदगी अधिकारियों की असलियत बताने के लिये काफी है। और तो और घटना के बाद भी रेल पुलिस अपनी निकम्मेपन की झलक दिखाने से बाज नही आई। फिलहाल घायल यात्रिओ को झाझा अस्पताल में इलाज कर उन्हें अपने गंतव्य के लिए रवाना करवा दिया गया है।