पहले अपहरण फिर युवती की हत्या

415
0
SHARE

मुकेश कुमार सिंह

सहरसा – बिहार के सहरसा जिले के सोनबर्षा राज थान क्षेत्र के सोहा गाँव में उस समय सनसनी फैल गयी जब गाँव के ही एक पोखर से तकरीबन साढ़े चार बजे मछली माही करने के दौरान मछली के जाल में मछुआरे को एक महादलित लड़की का शव मिला। जंगल में आग की तरह कुछ ही देर में पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी। लोगों का हुजूम पोखर के पास शव को देखने उमड़ने लगी।

लड़की की पहचान सोहा गाँव से 19 दिसंबर से लापता सोहा गाँव निवासी सेवक राम की 22 वर्षीय पुत्री अनिता के रूप में हुई। आनन फानन में पुलिस पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेजी सदर अस्पताल और जुटी तफ्तीश में।

परिजन का कहना है कि तीन माह पूर्व 19 दिसंबर 2018 की शाम को पिंटू यादव, राकेश, विनोद साह और राजेश सदा मेरी बहन का अपहरण उस समय कर लिया जब हम पटना में थे। आने के बाद हमने सोनबर्षा राज थाना में इन चारों के खिलाफ मेरी बहन का अपहरण करने का आवेदन दिया था, लेकिन पुलिस हमारे आवेदन पर मामला दर्ज नहीं किया तब हमने कोर्ट में नालशी कार्रवाई तब जा कर 2 जनवरी को पुलिस मामला दर्ज किया लेकिन उन लोगों से पुलिस ना तो पूछताछ की और ना ही कोई कार्रवाई।

उन्होंने कहा कि अपराधी खुलेआम पुलिस के सामने घूमता रहा लेकिन पुलिस हमारी बहन को ढूंढने में मेरी मदद नहीं की। हमने जिले के पुलिस कप्तान से भी गुहार लगाई लेकिन वहां से भी हम खाली हाँथ लौटे। अगर पुलिस समय पर हमारी मदद करती तो आज हमारी बहन की मौत नहीं होती। वहीं मृतका का पिता और भाई खुलेआम पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगा रहा है।