पानी की समस्या को देखते हुए चापाकल की स्वीकृति दी गई, इसके अलावा टैंकर की व्यवस्था भी की गई है : विनोद नारायण झा

333
0
SHARE

पटना – बिहार सरकार के लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के मंत्री विनोद नारायण झा ने जानकारी देते हुए कहा कि पेयजल समस्या के निदान के लिए सरकार मुस्तैद है। नवादा, गया जैसे कुछ इलाकों मे इसकी समस्या होती है, सरकार पहले से तैयार है। इस बार वर्षा कम होने के कारण हमने भू जल का रिपोर्ट लिया जिसमें कुछ और जिले शामिल हो गए। इसके लिए सरकार ने टॉल फ्री नंबर जारी किया। नल जल योजना के कारण, इस साल चापाकल कम लगे, पर पानी की समस्या को देखते हुए चापाकल की स्वीकृति दी गई। इसके अलावा टैंकर की व्यवस्था भी की गई है।

इसके अलावा कार्यपालक अभियंता को भी सूचित किया गया है कि अगर कहीं से भी पानी की समस्या हो उसे दूर करे। मेरे क्षेत्र में भी पंडौल गांव में इस तरह की समस्या आई जिसे दूर किया गया। हम इंसानों के साथ-साथ मवेशियों के पानी की व्यवस्था भी किया गया है,190 जगहों पर ये व्यवस्था है और 44 जगहों पर कार्य जारी है।

उन्होंने बताया कि भुजल स्तर का माप हर जिले का 15 दिनों पर हम लेते हैं, चूँकि ये एक औसत है। 25 जिलों में जिसे सूखा घोषित किया गया था वही हमारा फोकस है। हर जगह 30 से 40 मीटर की दूरी पर एक चापाकल उपलब्ध है। 15010 चापाकल की मरम्मत कराई गई है, साढ़े आठ लाख चापाकल चालू हालात में।