पीड़िता ने इंसाफ के लिये लगाई एसपी से गुहार

425
0
SHARE

सहरसा- इंसाफ के लिए क्यों लोगों को लगाना पर रह है अधिकारियों के चक्कर। यक्ष प्रश्न बना है आज के इस परिवेश में, क्या सुशासन की सरकार में बेलागम हुए पुलिस के अधिकारी, पीड़िता की अंदर की बेचैनी और बार-बार निकाह के नाम पर कई महीनों से शोषण और सरेआम अजमत उड़ा रही है। लोजपा के नेता चाँद मंजर इमाम को क्यों महीनों से केस दर्ज होने के बावजूद भी खुला छोड़ रखी है और अब कई दिनों से पीड़िता और परिवार के लोगों से केस उठाने नहीं तो जान से मारने की दे रहा है धमकी।

हद की इंतहां हो गयी, आक्रोशित सैकड़ों की तादाद में ग्रामीण और खुद अजमत लुटाई पीड़िता समेत उसके परिवार ने सहरसा के पुलिस कप्तान से अबिलम्ब लोजपा नेता की हो गिरफ्तारी और वक्त रहते पीड़िता इंसाफ के लिए लगा रही है गुहार। क्योंकि पीड़िता खुद इस जिल्लत की जिंदगी और परिवार की थू-थू से थक कर जान देनी की बात कर रही है।

वहीं जैसे ही घण्टो बाद एसपी को मीडिया की भनक लगी कि फ़ौरन पीड़िता और उसके परिजन समेत कुछ ग्रामीणों को अपने बेसमेंट में बुलाकर घण्टो पीड़िता से तफ्तीश की और फ़ौरन अबिलम्ब लोजपा नेता चाँद मंजर इमामं की गिरफ्तारी को लेकर फरमान किया जारी। वहीं जब मीडिया ने एसपी से इस बाबत बात करने की कोशिश की परहेज करते उन्होंने ने कहा कि पीड़िता को इंसाफ मिलेगा और 24 घण्टो के अंदर लोजपा नेता की गिरफ्तारी होगी। वहीं पीड़िता और उनके परिजन समेत ग्रामीणों ने मीडिया से बात की।

लेकिन सबसे बड़ा सवाल पीड़िता ने 3 जनवरी को सिमरी बख्तियारपुर थाना में आवेदन देकर दर्ज करवाई थी मामला। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर कांड संख्या 6/118 दर्ज कर पीड़िता को इंसाफ दिलाने का दिया था भरोसा। आखिर चाँद मंजर इमामं को छुट्टा क्यों छोड़ी है पुलिस।