पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाई, अपराधी गिरफ्तार

269
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – पैसे के विवाद में रंजन राम का हत्या कर लाश को फेंक दिया गया था, जिसमें मुख्य आरोपी पिंटू कुमार ने अपने और साथियों को पचास-पचास हजार रुपये का लालच देकर कराया था हत्या। कैमूर जिले के मोहनिया थाना क्षेत्र के गौरा नहर के पास धान के खेत से 12 नवंबर 2017 को हत्या कर फेंकी गई लाश की गुत्थी पुलिस ने आज सुलझा लिया है।

मोहनिया डीएसपी रघुनाथ सिंह ने प्रेस वार्ता कर बताया कि पैसे के विवाद को लेकर 12 नवंबर 2017 को रंजन राम को पिंटू कुमार ने बहला-फुसलाकर गौरा नहर के पास ले गया जहां पहले से ही उसके दो साथी इंतजार कर रहे थे। वहीं पर सभी ने एक साथ दारू पिया और पिंटू ने गमछा से गला दबाया और उसके साथ रहे तीन और साथियों ने दोनों पैर और हाथ को पकड़े रखा और रंजन राम की हत्या कर दी। पिंटू ने अपने साथियों को पचास-पचास हजार रुपये देने का बात किया था।

लेकिन घटना के बाद परिवार ने पिंटू कुमार सहित चार लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया था, जिसमें अनुसंधान के दौरान पता चला कि मुख्य आरोपी पिंटू कुमार के अलावा एक और व्यक्ति इस हत्या में शामिल था। लेकिन दो और लोग जो हत्या में शामिल नहीं थे उनका नाम परिवार वालों ने डाल दिया था, अनुसंधान में निर्दोष लोगों का नाम निकाल दिया गया और हत्या में रहे दो और लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

गिरफ्त अपराधियों ने अपना जुर्म भी कबूल किया है। पिंटू कुमार हत्या के आरोप में पहले से ही जेल में बंद है। उसके ऊपर पर चार्जशीट किया जा चुका है। उसका एक साथी राजेश कुमार बेल पर बाहर है और दो और आरोपियों को आज जेल भेजा जा रहा है।

वहीं आरोपी ने बताया कि पैसे की आवश्यकता थी किराना का दुकान खोलना चाहते थे इसलिए पचास हजार रुपए का लालच पिंटू ने दिया था उसके बातों में आकर हम लोगों ने रंजन राम का हाथ और पैर पकड़ा और पिंटू ने गमछा से गला दबाकर हत्या कर दिया।