पेट्रोलियम पदार्थो को जी0एस0टी0 में शामिल होने तक राज्य सरकार पेट्रोलियम पर वैट कम करें :- भाई अरूण

93
0
SHARE

पटना – राष्ट्रीय जनता दल राष्ट्रीय परिषद के सदस्य भाई अरूण कुमार एवं राजद अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव उपेन्द्र चन्द्रवंषी, सरदार रंजीत सिंह ने एक संयुक्त प्रेस बयान जारी कर पेट्रोलियम पदार्थ एवं रसोई गैंस में प्रतिदिन बढ़ रहीं किमतों पर गहरी चिन्ता प्रकट करते हुए कहा कि करीब 40 रू0 प्रति लिटर पड़ने वाला पेट्रोल सरकार आज 84.10 रू0 एवं 30 रू0 प्रति लिटर पड़ने वाला डीजल अब 74 रू0 प्रति लिटर में सरकार बेच रही है जोकि चिन्ता का विषय है। केन्द्र एवं राज्य सरकार दोनो मिलकर जनता की गाढ़ी कमाई को टैक्स के रूप में पौकेट पर से डाका डालने का काम कर रही है। अभी बिहार में पेट्रोल की कीमत अन्य राज्यों से भी अधिक है। क्योंकि बिहार सरकार अन्य राज्यों से ज्यादा पेट्राॅलियम पदार्थो पर वैट वसूल रही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा शासित मुख्य मंत्रीयों के सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने कहा था कि जी.एस.टी. में पेट्राॅलियम पदार्थो को अविलम्ब लाया जायेगा। जबतक पेट्राॅलियम पदार्थ जी.एस.टी. में लागू नहीं होती है तबतक केन्द्र और राज्य सरकार अपने-अपने टैक्सों में कमी करेगी। परन्तु बिहार सरकार ने अभी तक वैट में एक रू0 की भी कमी नहीं की है। अन्य राज्यों के अपेक्षा बिहार में पेट्राॅलियम पदार्थो का कीमत अधीक है। 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि मैं प्रधान मंत्री बनूंगा तो पेट्राॅल की कीमत 50 रू0 से ज्यादा नहीं होगी। परन्तु सरकार बने हुए चार साल से ज्यादा हो गये और 2014 के मुकावले कच्चे तेल की कीमत भी अंतराष्ट्रीय बाजार के मूल्य से आज बहूत ही कम है फिरभी पेट्राॅल और डीजल की कीमत में आग लगी हुयी है। यहां तक की श्रीलंका बंगलादेष नेपाल एवं पाकिस्तान में पेट्राॅल की कीमत 60 रू0 प्रति लिटर है। जबकि श्रीलंका को भारत हीं पेट्राॅल का निर्यात करता है। इन नेताओं ने कहा कि जबतक पेट्रोलियम पदार्थों को जी0एस0टी0 में नहीं लाया जाता है तब तक राज्य सरकार वैट कम करें क्योंकि पूरे देश में महाराष्ट्र के बाद बिहार में ही पेट्रोलियम की कीमत ज्यादा है।