प्रदेश के लोगों को कब मिलेगी जाम से मुक्ति – सदानंद सिंह

86
0
SHARE

पटना – बिहार प्रदेश कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने बिहार सरकार से पूछा है कि प्रदेश के लोगों को सड़क और यातायात जाम से कब मुक्ति मिलेगी? उन्होंने कहा कि प्रदेश के लगभग सभी शहरी क्षेत्रों में अस्त–व्यस्त मोटर परिचालन की वजह से नागरिकों को सड़क जाम की समस्या प्रायः रोज झेलना पड़ता है| मोकामा में एनएच 31 और 80 पर जाम का स्थायी समाधान दे पाने में पटना पुलिस अब तक विफल साबित हुई है| जबकि यहाँ काफी सक्रीय पुलिस अधिकारी पदस्थापित हैं|

सिंह ने कहा कि विशेष कर बालू ढ़ोने वाले बड़े वाहनों के बेतरतीब परिचालन की वजह से पटना के मोकामा, भोजपुर के कोईलवर–बबुरा (आरा–छपरा पुल से होनेवाला परिचालन), भागलपुर के विक्रमशिला पुल आदि मार्ग प्रायः जाम का दंश झेलने को मजबूर हैं| पुलिस प्रशासन की शिथिलता की वजह से उन मार्गों से होनेवाली यात्राएँ दुर्गम साबित होती हैं| बालू माफियाओं के वर्चस्व को तोड़कर यातायात को सुगम बनाने में बिहार पुलिस असमर्थ साबित हो रही है| जिसकी भुक्तभोगी हमारी जनता होती है| इससे प्रदूषण की भी समस्या उत्पन्न होती| जो पर्यावरण को नुकसान पहुँचाता है|

उन्होंने कहा कि जिलों के मुख्यालयों में भी इन दिनों सड़क जाम की समस्या आम होती जा रही है| सरकार का सड़क जाम से निजात का जितना प्रयास हो रहा है, वह नाकाफी है| बिहार के संवेदनशील मुख्यमंत्री से मेरा आग्रह है कि वे प्रदेश की जनता को सड़क जाम से मुक्ति दिलाकर सुगम यातायात उपलब्ध कराएँ|