प्रार्थना सभा में ग्रामीणों ने किया हंगामा

66
0
SHARE

समस्तीपुर – जिला के दलसिंहसराय थाना क्षेत्र के एनएच-28 पर केवटा-ढ़ेपुरा गांव स्थित ईसाई मिशनरी के प्रार्थना सभा में आज स्थानीय ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान उक्त घर में प्रार्थना कर रहे केवटा, बेगूसराय, सरायरंजन, समस्तीपुर, मुस्तफापुर, मुजफ्फरपुर, सिक्किम, महनैया आदि जगहों से पहुंचे 22 से अधिक सदस्यों को ग्रामीणों का आक्रोश झेलना पड़ा। मौके पर सैंकड़ो की संख्या में पहुंचे गांव के महिला, पुरुष, नौजवान व बच्चों ने बताया कि मिशनरी के लोगों का अक्सर यहां आना-जाना बना हुआ है। इस दौरान सभी ने जमीन खरीद कर घर बनाते हुए उसमें मिशनरी का प्रार्थना सभा शुरू कर दिया। जहां पर कई अन्य शहरों व प्रदेश के लोग आकर हर रविवार को प्रार्थना करते हैं। साथ ही अपने धर्म का प्रचार-प्रसार करते हुए गरीब व अनपढ़ लोगों को रुपए, पैसे, कपड़ा, दवा, शिक्षा, शादी-ब्याह आदि का प्रलोभन देते हुए 100 से 150 लोगों का धर्म परिवर्तन करवाया है।

वहीं एक अन्य युवक को जब जबरन धर्म परिवर्तन करवाया गया तो पता चलने के बाद हम लोगों में उसे कुछ दिन पूर्व ही गंगा जल व तुलसी खिलाते हुए हिंदू धर्म में वापसी कराया गया है। तब से ही ग्रामीणों के बीच इनके प्रति आक्रोश बना हुआ था। वहीं ग्रामीण विजय कुमार दास, विपिन कुमार, शशिभूषण दास ने बताया कि केवटा वार्ड संख्या पांच के गरीब दलित परिवार के लोगों को रुपए सहित कई चीजों का प्रलोभन देते हुए उसकी मर्जी से धर्म परिवर्तन करा लिया गया। जबरन कराने की बात का पता चलने के बाद समाज की एक बैठक बुलाई गई। सभी ने एक स्वर से इसके विरोध का निर्णय लिया गया की यह संस्था गलत है और पूरे समाज का धर्म परिवर्तन कर देगा।

सभी लोगों ने अविलंब इस संस्था को बंद करते हुए सभी धर्म परिवर्तन किए गए लोगों को हिंदू सनातन धर्म मे वापसी की मांग किया। इधर सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के विरोध के बीच किसी तरह से घर में बंद मिशनरी के सदस्यों को बाहर निकाला। परंतु इधर उधर भागने के क्रम में ग्रामीणों ने कई सदस्यों को पकड़ते हुए धुनाई किया। सभी को किसी तरह पुलिस ने अपने संरक्षण में शकुशल लेकर थाना पहुंची।