फर्जी शिक्षकों की जांच को लेकर नक्सलियों ने पत्र भेजकर जिला शिक्षा कार्यालय को बम से उड़ाने की दी धमकी

236
0
SHARE

मोतिहारी – जिले में चल रहे फर्जी शिक्षकों की जांच को लेकर नक्सलियों ने निबंधित डाक के माध्यम से पत्र भेजकर जिला शिक्षा कार्यालय को बम से उड़ाने की धमकी दी है। जिला शिक्षा कार्यालय स्थित कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना के कार्यालय में पत्र आने के बाद दहशत का माहौल है। पत्र में निगरानी द्वारा चल रही जांच को नहीं रोकने की स्थिति में डीपीओ रूपेंद्र कुमार सह व एक कर्मी की हत्या करने की धमकी दी है। पत्र मिलने के बाद डीपीओ रूपेंद्र कुमार सह ने जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को सूचना देते हुए सुरक्षा की मांग की है।

पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि सूचना के बाद पुलिस मामले की जांच कर रही है। प्रथम दृष्टया यह मामला फर्जी लगता है। भेजी गई पत्र की सत्यता की जांच कराई जा रही है। यह पत्र शिवहर से भेजा गया है। पत्र में जयलाल निशान, जय कामरेड मो मस्तान काजमी चिरैया पूर्वी चंपारण लिखा है।

बता दें कि जिले में कुल 24 शिक्षकों की बहाली के मामले की जांच निगरानी की टीम कर रही है। इस मामले में कई कर्मी भी निगरानी के रडार पर हैं। वहीं अब तक सात शिक्षकों के नियोजन भी फर्जी पाए गए हैं। जिसको लेकर नक्सली संगठन ने पत्र डाक के माध्यम से भेजा है। पत्र में कहा गया है कि दस वर्षों तक नौकरी करने के बाद अब शिक्षक कौन नौकरी करेंगे। जांच को बंद नहीं करने पर बम से उड़ा देंगे। पत्र में डीपीओ के अलावा कर्मी गौरी महतो को भी जान से मारने की धमकी दी है।