फिरौती के लिए दोस्त ने किया दोस्त का अपहरण

221
0
SHARE

जहानाबाद – सरकारी कर्मी के फिरौती के लिए हुए अपहरण मामले का पुलिस ने उद्भेदन करते हुए अपहृत मंतोष कुमार की बरामदगी के साथ-साथ अपहर्ता सत्येंद्र यादव को धर दबोचा है। गिरफ्तार अपहरणकर्ता के पास से अपहरण करने में इस्तेमाल की गई स्कार्पियो गाड़ी भी बरामद कर ली है। इस संबंध में एसपी ने बताया कि रविवार के दिन एक साजिश के तहत आरटीपीएस कर्मी को उसके परिचित सत्येंद्र यादव काम के बहाने पटना ले गया और वापसी में अपने कुछ गुर्गों के साथ हथियार के बल पर उसका अपहरण कर लिया। वही रात में अपहरणकर्ताओं ने मंतोष के फ़ोन से उसकी पत्नी के नंबर पर फोन कर 10 लाख रुपये फिरौती की मांग को लेकर दवाब बनाने लगे।

इस संबंध में अपहृत मंतोष की पत्नी ने नगर थाना में सोमवार को अपहरण का मामला दर्ज कराया था जिसके बाद पुलिस ने टावर लोकेशन के आधार पर ताबड़तोड़ छापेमारी शरू कर दी थी। पुलिस ने छापेमारी के उपरांत इस घटना के मास्टर माइंड और उसका दोस्त सत्येंद्र यादव को परसबिगहा थाना क्षेत्र के पंडित बिगहा से धर दबोचा। उसी के परिणामस्वरूप सभी अपहरणकर्ता अरवल से जहानाबाद आ रही एक गाड़ी में मंतोष को बिठा कर फरार हो गये। जिसे पुलिस ने अरवल ज़िला के किंजर के समीप से बरामद किया।

मंतोष ने बताया कि पटना से जहानाबाद लौटने के क्रम में बीच रास्ते से ही सत्येंद्र यादव के परिचित तक़रीबन सात की संख्या में रहे लोगो ने उसका अपहरण कर लिया और फिरौती की मांग को लेकर हथियार का भय दिखाकर उसके साथ जमकर मारपीट भी की। वहीं अपहृत की पत्नी ने पुलिस की कार्रवाई पर संतोष जताते हुए कहा कि उसे यकीन था कि अपहरण में उसके किसी दोस्त का ही हाथ हो सकता है। वही पुलिस इसे बड़ी सफलता मान रही है!