फिल्म नीति लागू होने से सिनेमाई संभावनाओं को बल मिलेगा : विकास

235
0
SHARE

सिनेमा को लेकर बिहार सरकार संवेदनशील है, यह जानकर उत्साहित और सुखद मह्सूस कर रहा हूँ । हमेशा से मेरी दिली चाहत रही है कि बतौर अभिनेता बिहार में या बिहार के पृष्ठभूमि पर काम करूँ । मैं नालंदा निवासी हूँ, जो अपने आप में एक ऐतिहासिक स्थान है । न केवल ऐतिहासिक बल्कि सिनेमाई संभावनाओं से परिपूर्ण भी है । मुझे लगता है बिहार सरकार द्वारा लागू की जाने वाली फिल्म प्रोत्साहन नीति से  संपूर्ण बिहार के कला संस्कृति   में अपार सिनेमाई संभावनाओं को बल मिलेगा । उक्त बातें हैंडओवर फिल्म के मुख्य अभिनेता विकास कुमार संवाददाताओं से बात करते हुए बोल रहे थे । वे बिहार राज्य फिल्म विकास एवं वित्त निगम द्वारा आयोजित कॉफी विद् फिल्म में अपनी फिल्म हैंडओवर के साथ बतौर अतिथि उपस्थित थे ।

फिल्म प्रदर्शन के पूर्व अभिनेता विकास कुमार का स्वागत व सम्मान निगम के महाप्रबंधक डी. के. सिंह ने पुष्पगुच्छ, अंगवस्त्रम एवं स्मृतिचिन्ह प्रदान कर किया, जबकि कॉफी विद् फिल्म के उद्देश्य पर प्रकाश डाला फिल्म समीक्षक विनोद अनुपम ने । कॉफी विद फिल्म  का संयोजन एवं संचालन सिनेयात्रा के सचिव एवं युवा फिल्मकार रविराज पटेल ने संभाला जबकि  धन्यवाद ज्ञापन कैनवास के विनय कुमार ने किया ।

 

विकास हस्तियों को बोलने की शैली सीखते हैं, डॉ. कलाम से भी हो चुके हैं सम्मानित  

 

विकास कुमार स्वयं अभिनय करने के साथ साथ फ़िल्मी एवं खेल हस्तियों को बोलने की शैली सीखते हैं । वे कई चर्चित फिल्मों के डायलॉग कोच रहे हैं । इश्किया, फितूर, ज़िन्दगी न मिलेगी दुबारा, द शौकीन्स, औरंगजेब, उड़ान, सात खून माफ़ आदि फिल्मों के डायलॉग कोच विकास ही थे । श्री विकास ने अब तक विद्या बालन, नसीर उद्दीन शाह, अरशद वारसी, आदित्य रॉय कपूर, कल्कि कोचलिन, लिसा हेडेन, नामचीन टीवी पत्रकार  रविश कुमार से लेकर खिलाडियों में रवि शास्त्री, वीरेंद्र सहवाग, आर.पी सिंह, सोएब मल्लिक, मो. कैफ, आकाश चोपड़ा, दीप दास गुप्ता, अपर्णा पोपट (बैडमिंटन), बलजीत सिंह सैनी (हॉकी), विजयन (फुटवाल) आदि तक को प्रशिक्षित कर चुके हैं ।

विकास रिओ ओलम्पिक (2016), टी20 वर्ल्ड कप (2016), क्रिकेट वर्ल्ड कप (2015), प्रो-कबड्डी के भी डायलॉग कोच रहे हैं ।

बतौर अभिनेता विकास तीन फीचर फिल्मों में मुख्य अभिनय कर चुके हैं । पहली फिल्म हैंडओवर ही है । इसके आलावा पृथीपाल सिंह और डेल्ही खबर है । विकास चर्चित धारावाहिक सीआईडी में सीनियर इन्स्पेक्टर रजत, यश राज फिल्म्स के खोटे सिक्के में सीनियर इन्स्पेक्टर दामोदर देशमुख तथा पाउडर में यादगार अभिनय किया है । इनकी दो लघु फिल्मे  भी काफी चर्चा में रही है शानू टैक्सी और एबीएस नॉट । विकास ‘द लीजेंड ऑफ़ राम’ नाटक में अभिनय के लिए तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. ए.पी जे. अब्दुल कलाम से भी सम्मानित हो चुके हैं ।

 

देखी  कॉफी  विद् ‘हैंडओवर’

बिहार राज्य फिल्म विकास एवं वित्त निगम की श्रृंखला कॉफी विद् फिल्म में कॉफी की चुस्की लेते हुए लोगों ने फीचर फिल्म हैंडओवर देखी । फिल्म देखते समय कई दर्शक भावुक होते दिखे ।  मिडिया में ख़बरों की खरीद-बिक्री  की  शिकार हुए दलित दम्पति की द्वंद्वात्मकता  एवं  ममत्व  की  मार्मिक कथा कहती हैं हैंडओवर ।  फिल्म की कहानी उड़ीसा में घटित  वास्तविक घटना पर  देश के वरिष्ठ पत्रकार हर्ष मंडर की द हिन्दू में प्रकाशित रिपोर्ट “सेलिंग वन्स चाइल्ड” पर आधारित है ।  फिल्म की भाषा मगही और हिंदी है, जबकि सब-टाईटल अंग्रेजी में है । 73 मिनट की फीचर फिल्म  हैंडओवर की अधिकांश शूटिंग बिहार के बिहारशरीफ और  नालंदा में हुई है ।

 

ये हैं हैंडओवर की टीम :

सौरभ कुमार – निर्देशक, रवि अग्रवाल – निर्माता, विकास कुमार – रतन दास, नूतन सिन्हा – राधा पासवान, प्रभात रघुनन्दन – काला सिंह, शिखा डे – रतन की पत्नी, विजय कुमार – मंत्री

अभी डांगे – डीओपी, बकुल मटियानी – संपादक  | (अधिकांश  क्लाकार एवं तकनीशियन एफटीआईआई, पुणे से प्रशिक्षत हैं)

 

शहर के कई गणमान्य थे मौजूद :

आर. एन. दास (अध्यक्ष, सिनेयात्रा), ,मिथलेश मिश्र (भा.प्र.से), डॉ.शंकर प्रसाद, फिल्मकार राजेश राज, अशोक आदित्य, अनिश अंकुर, अरुण सिंह, रमेश सिंह, अजय पाण्डेय, मनोज बच्चन, डॉ. शत्रुघन प्रसाद आदि |