बम विस्फोट मामला : सभी आतंकियों को स्पॉट वेरिफिकेशन के लिए लाया गया

149
0
SHARE

गया – एनआईए की टीम आज बम प्लांट करने वाले पाँच आतंकी आरोपी के साथ बोधगया पहुंची और पाँचो आरोपियों से उस स्थल की पहचान करवायी जहां 19 जनवरी 2018 को बम प्लांट किया गया था। बिनी किसी पूर्व सूचना के एनआईए के 7 से ज्यादा अधिकारियों की टीम आरोपी को लेकर बोधगया पहुंची और विभिन्न स्पॉट का भ्रमण किया। गिरफ्तार कर लाये गये आरोपियों ने एनआईए की टीम को महाबोधी मंदिर के 4 नंबर गेट के पास ले गयी जहां से पुलिस ने बम बरामद किया था। यह टीम महाबोधी सोसाईटी के गेट के बगल के उस चाय दुकान के पास भी गयी जहां से पुलिस ने कचरे के डब्बे से दूसरा बम बरामद किया था और उसके बाद तिब्बती मोनेस्ट्री के पीछे के कालचक्र मैदान के गेट के पास गयी जहां थर्मस में रखा बम विस्फोट हुआ था जिसके बाद पुलिस और सुरक्षा एजेंसी अलर्ट हुई थी और सघन सर्च अभियान चलाकर दो बम को बरामद किया था।

बता दें कि कि बौद्ध धर्म गुरू दलाई लामा के प्रवास के दौरान बोधगया को दहलाने की साजिश के उद्देश्य से आतंकियों ने तीन बम प्लांट किये थे जिसमें से एक थर्मस बम विस्फोट भी हुआ था, पर उससे किसी तरह की जान-माल का नुकसान नहीं हुई थी। बाद में दो अन्य बम को एनएसजी की टीम ने फल्गु नदीं में विस्फोट कर डिफ्युज किया था। जिस दिन यह बम मिला था उसी दिन बिहार के राज्यपाल ने महाबोधी मंदिर का दौरा भी किया था।

इस मामले में 7 अगस्त को एनआईए की टीम ने 2 और संदिग्ध को गिरफ्तार किया था। आज सभी आतंकियों को स्पॉट वेरिफिकेशन के लिए लाया गया था।