बाइक सवार अपराधियों ने नगर निगम के कर्मचारी को गोलियों से भून डाला

223
0
SHARE

गया – अज्ञात दो बाईक सवार 6 अपराधियों ने मचाया तांडव एक युवक को गोलियों से किया छलनी। अस्पताल ले जाने के क्रम में हुई युवक की मौत। नगर निगम में निजी सफाईकर्मी पर कार्यरत था कुंदन राम। अपने साथी के साथ काम करने के लिए जा रहा था ड्यूटी। कोतवाली थाना के गोलबगीचा मोहल्ले में अपराधियों ने दिया वारदात को अंजाम। सीसीटीवी मे कैद हुआ अपराधियों का फोटो।

कोतवाली थानाक्षेत्र के गोलबगीचा मोहल्ले में नगर निगम में निजी कर्मचारी कुंदन राम को उस वक्त अपराधियों ने गोलियों से छलनी कर दिया जब वह अपने घर से अपने साथी के साथ ड्यूटी करने गोलपत्थर जा रहा था। तभी पहले से घात लगाये अपराधियों ने कुंदन राम के आते ही सभी अपराधी उस पर अंधाधुंध गोली चलाने लगे। वहीं घटना स्थल पर ही कुंदन राम को पहले एक गोली लग गयी थी लेकिन गोली लगने के बाद भी कुंदन राम एक घर में छिप गया जहां अपराधियों ने घर में घुसकर कुंदन राम को गोलियों से छलनी कर दिया। बताया जा रहा है कि कुंदन राम को 12 गोली मारी गयी है, लेकिन पुलिस 5 गोली लगने की पुष्टी कर रही है। कुंदन राम और कुंदन कुमार दोनों निजी सफाई कर्मी हैं। घटना की सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस ने आकर घटना का जायजा लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और अपराधियों को पकड़ने के लिए छापेमारी तेज कर दिया है। दूसरी ओर घटना की सूचना पर नगर निगम के सभी सफाईकर्मी अनुग्रह नरायण मगध मेडिकल कॉलेज पहुँच गये। घटना को लेकर लोगों में आक्रोश व्याप्त है तो इसकी पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है।

वहीं मृतक के साला सन्नी ने बताया कि सूचना मिलने का बाद अपने घर से दौड़े-दौड़े भागे देखा कि जमीन पर मेरे जीजा गिरे हुए है। उसको उठा कर टेम्पो से गोलपत्थर स्थित जय प्रकाश नरायण अस्पताल लाया लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उसने यह भी बताया कि मेरे जीजा से होली में एक पाउच शराब माँगने के लिए मारपीट हुआ था। जिसके बाद देख लेने की धमकी दिया था वह पास के ही बंग्ला स्थान के ही रहने वाला महेश यादव है। महेश यादव अपराधी है और छीना-छोड़ी लूट की घटना को अंजाम देता है। साला ने बताया कि मेरे जीजा काम करने क्या गया कि काल बन गया।

नगर निगम के अधिकारी शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि मृतक के दाह संस्कार के लिए नगर निगम से पैसे उपलब्ध कराया जा रहा है और उसके पत्नी को नौकरी दी जायेगी। बहरहाल इस घटना से यही स्पष्ट होता है कि बिहार के गया में पुलिस पस्त है और अपराधी मस्त दिखाई पड़ रहे हैं। अपराधियों में पुलिस का कोई खौफ नहीं है। 10 दिन पहले भी कोतवाली थाना क्षेत्र मे एक नाबालिग को गोली मार कर हत्या कर दिया गया था।