बालाजी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट से लिया रिटायरमेंट

294
0
SHARE

पटना: वर्ष 2004 में टीम इंडिया के पाकिस्तान टूर के वक्त शानदार प्रदर्शन करने वाले गेंदबाज लक्ष्मीपति बालाजी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया है। लेकिन वे इंडियन प्रीमियर लीग और तमिलनाडु प्रीमियर लीग जैसे टूर्नामेंट में खेलना जारी रखेंगे। साथ ही वे तमिलनाडु टीम के बॉलिंग कोच भी बने रहेंगे।

34 वर्षीय बालाजी वर्ष 2004 में उस वक्त खूब फेमस हुए थे, जब उन्होंने टीम इंडिया के पाकिस्तान दौरे में जबरदस्त परफॉर्मेंस दी थी। इस टूर पर उन्होंने 3 टेस्ट मैचों में 12 विकेट चटकाते हुए पाकिस्तानी बैट्समैन को खूब परेशान किया था।

इस सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में उन्होंने 7 विकेट लिए थे। वहीं 5 मैचों की वनडे सीरीज में उन्होंने 6 विकेट लिए थे। क्रिकेट से रिटायरमेंट के बारे में बताते हुए बालाजी ने कहा ‘मुझे आगे बढ़ना है, मेरा परिवार है और इससे मुझे उनके साथ समय बिताने का मौका मिलेगा। मैंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट को 16 साल दिए हैं, लेकिन मैं आईपीएल और टीएनपीएल में खेलना जारी रखूंगा।’

रिटायरमेंट का घोषणा करते हुए बालाजी ने अपने साथ खेल चुके कई पूर्व क्रिकेटरों को भी याद किया। उन्होंने कहा ‘अनिल कुंबले और जहीर खान ने मुझे मेरे करियर में काफी मदद की। जहीर बहुत अच्छे इंसान है और उन्होंने हमेशा मेरा हौसला बढ़ाया।’

बालाजी ने करियर में 106 फर्स्ट क्लास मैचों में 12.14 के एवरेज से 1202 रन बनाए और 26.10 के औसत से 330 विकेट झटके हैं। पाकिस्तान टूर पर इंजमाम उल हक से जुड़ी एक घटना को याद करते हुए बालाजी ने कहा ‘मैंने आउटस्विंगर डाली और इंजमाम उसे समझ नहीं सके।’उन्होंने कहा कि मैं उस पल को कभी नहीं भूल सकता क्योंकि हमने पहली बार पाकिस्तान में टेस्ट सीरीज जीती थी।

अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार शुरुआत के बाद बालाजी का करियर अधिकतर समय चोटों से ही जूझता रहा और इस कारण वे काफी समय तक टीम से बाहर ही रहे।