बाढ़ समाचार

323
0
SHARE

पटना, 11 जुलाई 2017: केन्दीय जल आयोग पटना से प्राप्त सूचनानुसार घाघरा नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 बजे दरौली में खतरे के निशान से 104 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में कल प्रातः 08.00 बजे तक 12 सेंटीमीटर की वृद्धि होने की सम्भावना हैं।

घाघरा नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 बजे गंगपुरसिसवन में खतरे के निशान से 107 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में कल प्रातः 04.00 बजे तक 13 सेंटीमीटर वृद्धि होने की सम्भावना है।
गंडक नदी का जलस्तर आज प्रातः 08.00 बजे खड्डा में खतरे के निशान से 60 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में आज अपराह्न 15.00 बजे तक 30 सेंटीमीटर कमी होने की सम्भावना है। गंडक नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 बजे डुमरियाघाट में खतरे के निशान से 16 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में कल प्रातः 06.00 बजे तक 40 सेंटीमीटर वृद्धि होने की सम्भावना है।

बागमती नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 बजे बेनीबाद में खतरे के निशान से 131 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में कल प्रातः 06.00 बजे तक 123 सेंटीमीटर वृद्धि होने की सम्भावना है।
कमला-बलान नदी का जलस्तर आज प्रातः 08.00 बजे झंझारपुर में खतरे के निषान से 75 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में आज संध्या 16.00 बजे तक 07 सेंटीमीटर की कमी होने की सम्भावना है।
कोसी नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 बजे बसुआ में खतरे के निशान से 30 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में आज रात्रि 22.00 बजे तक 24 सेंटीमीटर की वृद्धि होने की सम्भावना है।

कोसी नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 बजे बलतारा में खतरे के निशान से 05 सेंटीमीटर ऊपर था। इसके जलस्तर में कल प्रातः 06.00 बजे तक 60 सेंटीमीटर की वृद्धि होने की सम्भावना है।

महानन्दा नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 ढ़ेगराघाट में खतरे के निशान से 65 सेंटीमीटर ऊपर था। इसके जलस्तर कल प्रातः 06.00 बजे तक 25 सेंटीमीटर की वृद्धि होने की सम्भावना है।

महानन्दा नदी का जलस्तर आज प्रातः 06.00 झावा में खतरे के निषान से 11 सेंटीमीटर नीचे था। इसके जलस्तर में आज रात्रि 22.00 बजे तक 26 सेंटीमीटर की वृद्धि होने की सम्भावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग की सूचनानुसार कल दिनांक 12/07/2017 के प्रातः तक बिहार की सभी नदियों एवं सोन नदियों के ऊपरी जलग्रहण क्षेत्रों में हल्की वर्षा होने की सम्भावना है।

केन्द्रीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष, पटना से प्राप्त सूचनानुसार, बिहार के सभी बाढ़ सुरक्षात्मक तटबंध सुरक्षित हैं।