बिहारियों को नौकरियों में मिले 80 फीसद आरक्षण: लालू यादव

139
0
SHARE

पटना: राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव ने राज्य सरकार की नौकरियों में स्थानीय लोगों को तरजीह देने की वकालत की है। राजद सुप्रीमो ने बुधवार को कहा कि बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन एवं कर्मचारी चयन आयोग की नौकरियों में स्थानीय अभ्यर्थियों को लिए 80 फीसद तक का कोटा तय किया जाए।

राजद सुप्रीमो ने कहा कि बिहार सरकार की दूतिय एवं तीसरी श्रेणी की नौकरियों में बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों के बच्चों का चयन हो हो जा रहा है। जबकि बिहार के बच्चे हर साल दूसरे राज्यों में अवसर की तलाश में जाते है।

लालू यादव ने कहा कि स्थानिय लोगों को बिहार सरकार की नौकरियों में कोटे के मुद्दे पर जल्द ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात करेंगे। लालू ने कहा कि हमारे बच्चे नौकरी के लिए दूसरे राज्यों में मारे-मारे फिर रहे है और बिहार सरकार की नौकरियां दूसरे राज्यों के लोग हड़प रहे है।

उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला कि अभी हाल ही में बिहार में सहायक प्राध्यापक की नियुक्तियों में बड़ी संख्या में दूसरे प्रदेशों के लोगों को नौकरियां मिल है। बिहार के बच्चों के साथ अन्याय है क्योंकि हमारे बच्चों में किसी से कम प्रतिभा नहीं है।

राजद सुप्रीमो का यह बयान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने न्यायपालिका एवं प्राइवेट सेक्टर की नौकरियों में दलितों के लिए आरक्षण की बात कही थी। नीतीश ने यह मांग लखनऊ की एक सभा में की थी।