बिहार कृषि विश्वविद्यालय के शोध एवं प्रसार कार्यक्रमों के लिए 4 करोड़ 93 लाख 47 हजार रूपये सहायक अनुदान की मिली स्वीकृति – डॉ. प्रेम कुमार

170
0
SHARE

पटना – बिहार के कृषि विभाग मंत्री डाॅ॰ प्रेम कुमार ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर भागलपुर के शोध एवं प्रसार कार्यक्रमों के लिए 4 करोड़ 93 लाख 47 हजार रूपये सहायक अनुदान की स्वीकृति प्रदान की गई है। इस राशि से सूचना तकनीक के तहत् वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग, कृषि वैज्ञानिक किसानों के द्वार कार्यक्रम एवं कृषि विज्ञान केन्द्रों में समेकित कृषि प्रणाली के सुदृढ़ीकरण का कार्य किया जायेगा।

मंत्री ने कहा कि वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के लिए स्वीकृत राशि से इंटरनेट लीज लाईन चार्जेज एवं अन्य व्यय किया जायेगा। बिहार कृषि विश्वविद्यालय द्वारा सूचना तकनीक (वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग) के माध्यम से किसानों, ग्रामीण युवाओं, विशेष रूप से महिलाओं को प्रशिक्षित किया जायेगा। कृषि वैज्ञानिक किसानों के द्वारा कार्यक्रम के मद में स्वीकृत राशि से 1040 कृषि वैज्ञानिक किसानों के द्वारा कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे तथा प्रत्येक कृषि वैज्ञानिक किसानों के द्वारा कार्यक्रम के आयोजन में 10-10 हजार रूपये व्यय किया जायेगा। विश्वविद्यालय द्वारा कृषि वैज्ञानिक किसानों के द्वार कार्यक्रम माध्यम से कृषकों को कृषि के नवीनतम तकनीकों के साथ विभाग की योजनाओं के बारे में जानकारी समय पर उपलब्ध कराई जायेगी।

डाॅ॰ कुमार ने कहा कि बिहार कृषि विश्वविद्यालय द्वारा 20 कृषि विज्ञान केन्द्रों में राज्य के जलवायु प्रक्षेत्र में नीची भूमि, मध्यम भूमि तथा उच्च भूमि के लिए 3 अलग-अलग प्रकार के समेकित कृषि प्रणाली का प्रदर्शन किसानों की आय तथा पोषण सुरक्षा के लिए विकसित किया जायेगा। नीची भूमि के समेकित कृषि प्रणाली माॅडल में मछली एवं बत्तख पालन के लिए तालाब 500 युनिट का कुक्कुटपालन को खाद्यान्न फसलों के साथ समेकित किया जायेगा, मध्यम एवं उच्च भूमि में खाद्यान्न फसल के साथ डेयरी, बकरीपालन तथा वर्मी कम्पोस्ट इकाई को बढ़ावा दिया जायेगा।