बिहार में दलित उत्पीड़न पर चुप क्यों लालू-नीतीश : रामविलास पासवान

279
0
SHARE

पटना: केंद्रीय मंत्री व लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान ने रविवार को पटना में संवाददाताओं से मुखातिब होत हुए दलित उत्पीड़न के मामले में राज्य सरकार को आड़े हाथों लिया। पासवान ने सवाल किया है कि गुजरात में दलित उत्पीड़न की घटना पर घड़ियाली आंसू बहाने वाले लालू और नीतीश मुजफ्फरपुर के पारु, किशनगंज के कटहलबाड़ी और दरभंगा के मनीगाछी की घटनाओं पर चुप क्यों है। वहां पीड़ितों का हाल जानने क्यों नहीं जा रहे ?

उन्होंने कहा कि राज्य में अराजक माहौल पैदा हो गया है। कानून-व्यवस्था ध्वस्थ है। शासन नाम की कोई चीज नहीं बची है। कहा कि नीतीश के शासन में अपराधियों का मनोबल बढ़ा है।

भाजपा के एमएलसी टुन्ना पांडेय की छेड़खानी के आरोप पर अपनी प्रतिक्रिया में रामविलास पासवान ने कहा कि यह कार्रवाई सही है। उन्होंने ताड़ी पर प्रतिबंध के खिलाफ आंदोलन की घोषणा करते हुए बताया कि लोजपा ने इसक शुरुआत हाजीपुर में धरना से कर दी है।

इस अवसर पर सांसद चिराग पासवान ने कहा कि लालू व नीतीश दिलित उत्पीड़न को लेकर राज्य के बाहर दौरा कर रहे है लेकिन राज्य की घटनाओं पर उनका ध्यान नहीं है। दलित उत्पीड़न के बहाने नेता पॉलिटकल टूरिज्म नहीं करें। चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा में पाकिस्तानी झंड़ा फहराए जाने को लेकर भी उनपर तंज कसा।