बिहार में पुलिस का मनोबल पस्त है और पक्ष और विपक्ष के नेतागण बंगला–बंगला के खेल में व्यस्त हैं : जाप (लो)

282
0
SHARE

पटना – राजधानी पटना के राजवंशी नगर में दिनदहाड़े पटना हाईकोर्ट के वकील जितेंद्र कुमार की हत्‍या पर जन अधिकार पार्टी (लो) ने गहरी चिंता जाहिर की और आक्रोश प्रकट किया। पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज़ अहमद ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि ऐसा लगता है कि अब तो राज्य में शासन और प्रशासन नाम की कोई चीज पूरी तरह खत्‍म ही हो गई है। बिहार में अपराधी मस्त है। पुलिस का मनोबल पस्त है और पक्ष और विपक्ष के नेतागण बंगला – बंगला के खेल में व्यस्त हैं।

उन्‍होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है जहां कानून व्यवस्था पर ना तो सत्ता पक्ष को फिक्र है और ना ही विपक्ष को एक तरफ सत्ता पक्ष के लोग बंगला खाली करवाने के लिए चिंतित हैं तो दूसरी ओर विपक्ष बंगला बचाने में अपना समय व्यतीत कर रहा है। इन दोनों पझ को राज्य की जनता से कोई मतलब नहीं है, जिस कारण शासन और प्रशासन में अराजकता का स्थिति उत्पन्न हो हो गयी है।

एजाज अहमद ने राज्य सरकार से अविलंब पूरे प्रशासनिक व्यवस्था में परिवर्तन करने के साथ – साथ राजनीतिक दुर्भावना की राजनीति से अलग हटकर बिहार में कानून व्यवस्था की स्थिति को बिगड़ने से बचाने के लिए चल सर्वदलीय मीटिंग बुलाने की मांग की है, जिससे कि आम जनों का शासन और प्रशासन पर विश्वास बना रहे और प्रशासनिक व्यवस्था के गिरते स्तर के मनोबल को ऊंचा बनाया जा सके। क्योंकि आज नेताओं के द्वारा ही अपराधियों को संरक्षण दिया जा रहा है और आम जनता को विधायकों के द्वारा धमकी दी जा रही है जोकि प्रशासनिक व्यवस्था का मनोबल गिरा रहा है।