बिहार में पूर्ण शराबबंदी को मिली मंजूरी, अब दो घुंट भी नहीं होगी नसीब

304
0
SHARE

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बिहार कैबिनेट ने बिहार में पूर्ण शराबबंदी को मंजूरी दे दी। अब राज्य में देसी के साथ विदेशी शराब भी उपलब्ध नहीं होगी। बिहार में अब होटल व बार में भी शराब नहीं परोसी जायेगी और इसके लिए लाइसेंस भी नहीं दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि देसी शराब पर लगाए गए प्रतिबंध पर जिस तरह से राज्य के लोगों का साथ मिला, उसे देखते हुए सरकार ने तुरंत प्रभाव से विदेशी शराब पर भी बैन लगाने का फैसला किया है। और इस संबंध में तुरंत नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा।

कैबिनेट की बैठक के बाद सीएम नीतीश ने कहा कि सरकार ने अगले चरण से विदेशी शराब को बंद करने का फैसला लिया था लेकिन नई शराब नीति के लागू होने के महज 4 दिन जिस तरह से लोगों और खास तौर से महिलाओं ने विदेशी शराब के दुकानों का भी विरोध किया। ऐसे में लगा कि पूरा बिहार शराबबंदी को लेकर एक हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों के स्वस्फूर्त समर्थन के कारण सरकार ने तत्काल प्रभाव से विदेशी शराब की दुकानों को बंद करने का फैसला लिया है। इसके साथ ही सरकार ने उन सभी दुकानों को रद्द कर दिया है जिनके माध्यम से बिवरेज कॉर्पोरेशन को बिहार में विदेशी शराब बेचनी थी।

नीतीश ने कहा कि मैं राज्य में शराबबंदी के लिए माहौल बनने का इंतजार कर रहा था और चार दिन में राज्य में शराब के खिलाफ बने अच्छे माहौल के बाद हमने यह निर्णय ले लिया है। उन्होंने शराबबंदी के फैसले के लिए महिलाओं को धन्यवाद दिया और उनके प्रयासों की तारीफ की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में हमने नयी शराब नीति बनायी है. लोगों ने हमारे इस फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इस फैसले के माध्यम से बिहार में सामाजिक परिवर्तन की बुनियाद रखी जा चुकी है। बिहार पूर्ण शराबबंदी के मामले में पूरे देश में एक मिशाल बनेगा।