बिहार राज्य प्रार्थना

754
0
SHARE

बिहार राज्य प्रार्थना


             मेरी रफ्तार पे सूरज की किरण नाज करे

              ऐसी परवाज दे मालिक कि गगन नाज करे 


              वो नजर दे कि करुँ कद्र हरेक मजहब की

              वो खुशबू से महक जाये ये दुनिया मालिक


              मुक्षको वो फूल बना सारा चमन नाज करे

              इल्म कुछ ऐसा दे मैं काम सबों के आऊँ


              हौसला ऐसा ही दे गंग – जमन नाज करे

              आधे रास्ते पे न रुक जाये मुसाफिर के कदम


              शौक मंजिल का हो इतना कि थकन नाज करे

              दीप से दीप जलायें कि चमक उठे बिहार


              ऐसी खूबी दे ऐ मालिक कि वतन नाज करे

              जय बिहार जय बिहार जय जय जय जय बिहार