बीजेपी के सबसे अमीर राज्यसभा सांसद उम्मीदवार आर के सिन्हा

537
0
SHARE
बीजेपी के सबसे अमीर राज्यसभा सांसद उम्मीदवार आर के सिन्हा से बातचीत के अंश :
सबसे धनी राज्यसभा सांसद होंगे — विजय माल्या और जया बच्चन के साथ आपका नाम भी जुड़ रहा है कैसा लग रहा है?
—– किसी के साथ नाम जुड़ना या न जुड़ना ये कोई खास महत्व नहीं रखता।
सबसे धनी सांसद होंगे—क्या कह्ना चाहेंगे?
—– मैं भी सुन रहा हूँ।
कहा जाता है आप पत्रकार थे—फिर 800 करोड़ सम्पत्ति के मालिक— इस सफर के बारे में कुछ कहना चाहेंगे?
—- मैं बकायदा श्रमजीवी पत्रकार था। 230 रुपये तन्ख्वाह पर सर्चलाइट – प्रदीप में स्टाफ रिपोर्टर था। वो 230 रुपये की नौकरी भी जे पी आन्दोलन में शामिल होने की वजह से जाती रही। उसके बाद बेरोजगार होते हुए भी धर्मयुग और माया मैगजीन के लिए स्वतन्त्र पत्रकारिता किया। ये सब करते–करते एक दिन जेपी की प्रेरणा से भूतपूर्व सैनिकों के पुनर्वास के लिए ये कार्य शुरु किया जो कि बाद में एक विशाल वटवृक्ष की तरह बढ़ गया।
आपके जिन्दगी का टर्निंग प्वाइन्ट?
1966 में पं0 दीनदयाल उपाध्याय से हमारी मुलाकात और उनके मार्गदर्शन में भारतीय जनसंघ में काम करने का मौका।
राजनीति की ओर कब झुकाव हुआ?
—- राजनीति की ओर झुकाव को उभारने वाले दीनदयाल उपाध्याय ही थे जिन्होंने 1966 में आर एस एस के कैंप से निकालकर भारतीय जनसंघ के काम में लगाया था।
अपनी संपत्ति के बारे में कुछ कहेंगे?
—- ये सारा कुछ डिक्लेयर है। कुल 850 करोड़ की संपत्ति है, जिसमें लगभग 700 करोड़ शेयर वैगरह का भेल्यूशन है, उसको छोड़ दें तो 150 करोड़ की संपत्ति है।
आपने अपना हेड ऑफिस पटना में ही रखा है, कोई खास वजह?
—- बिहार से हमारा जुड़ाव है। पटना में हेड ऑफिस रखने के कारण सारे टैक्स यहीं जमा होते हैं, जिस के कारण केन्द्र सरकार उसका कुछ प्रतिशत बिहार को ग्रांट के रुप में वापिस भी बिहार सरकार को करती है जो बिहार के विकास में काम आता है। इस कारण अपना हेड ऑफिस बिहार में रखा है।
कहा जाता है कि गाँधी मैदान में नरेन्द्र मोदी की रैली ऑर्गेनाइज करने का सारा जिम्मा आपका था, जिसका इनाम ये राज्यसभा टिकट है?
सारा जिम्मा तो नहीं था लेकिन हाँ कुछ आयोजन का कार्य हमारे हिस्से था। उस समय में दिल्ली प्रदेश का मैं चुनाव प्रभारी था, इसलिए उतना समय तो नहीं दे सकता था फिर भी जितना हुआ दिया। ये 40 वर्षों से कार्य कर रहे कार्यकर्ता का सफर है उसको रिकोगनाइज किया गया। मैं इसे कार्यकर्ता का सम्मान मानता हूँ।
नरेन्द्र मोदी के बारे में आपका क्या कहना है?
नरेन्द्र मोदी एक अदभूत राजनेता हैं और एक चमत्कारी रुप से कार्य करने वाले सक्षम प्रशासक हैं।
आप ने सामाजिक कार्यों मे भी अपना योगदान दिया है?
हमारा एस आई एस का सारा कार्य ही समाज के गरीब दबे-कुचले लोगों के कल्याण का कार्य है। हमलोग गरीबी रेखा से नीचे रह रहे लोगों को स्पॉट करते हैं और उनको प्रशिक्षित करके सुरक्षा कार्यों में लगाते हैं। इस तरह गरीबी रेखा से नीचे गुजर-बसर करने वाला एकाएक गरीबी रेखा से ऊपर उठ जाता है। यह भी एक सामाजिक सरोकार का कार्य है। आज हमने 75000 लोगों को स्थायी रोजगार दिया है और दो लाख से ज्यादा लोगों को प्रशिक्षित किया है। यह कार्य बहुत ही संतोष देने वाला है। यह आठ सौ पचास करोड़ रुपये की संपत्ति होने के सुकुन से कई गुणा ज्यादा सुकुन देता है कि हमारे ऊपर 75 हजार लोग निर्भर करते हैं।