बैंक मैनेजर को दिनदहाड़े गोलियों से भूना

229
0
SHARE

जहानाबाद- अरवल मुख्य सड़क मार्ग पर नेहालपुर छिलका के समीप सोमवार की सुबह हथियारंबद अपराधियों ने बैंक ऑफ बड़ौदा, अरवल के मुख्य शाखा के मैनेजर आलोक चंद्रा (31 वर्ष) को गोलियों से भुन डाला। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी बाइक से फरार हो गए। अंधाधून गोलियों से जख्मी मैनेजर ने घटना स्थल पर ही दम तोड़ दिया। उन्हें चार गोलियां मारी गई है। हत्या की सूचना के बाद पहुंची परसबिगहा थाने की पुलिस ने घटना स्थल से तीन खोखा बरामद किया है।

एसपी और एएसपी ने भी घटना स्थल का निरीक्षण कर पूरे मामले की जानकारी ली है। हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है। आलोक नवादा जिले के कुटारी गांव के रहने वाले हैं। मिली जानकारी के अनुसार आलोक सोमवार की सुबह अपनी बुलेट मोटरसाई किल से अपने गांव कुटारी से अरवल लौट रहे थे। लगभग पौने आठ बजे वह नेहालपुर छिलका के पास पहुंचे थे। इसी दौरान अरवल की ओर से अपाची बाइक पर सवार तीन अपराधी वहां पर आ धमके।

घटनास्थल से प्रतीत होता है कि अपराधियों ने उन्हें खदेड़कर गोलीमारी है। मैनेजर का शव सड़क के किनारे एक चाट में गिरा था। जबकि उनका बुलेट सड़क किनारे लगा था। अनुमान लगाया जा रहा है कि अपराधियों से बचने के लिए मैनजर ने बाइक छोड़कर भागने की कोशिश की होगी और अपराधियों ने उन्हें खदेड़कर गोली मार दी। इस संबंध में परसबिगहा थानाध्यक्ष अमन आनंद ने बताया कि मृतक के चाचा मुकेश सिंह के बयान पर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। मृतक के शरीर में बुलेट गोली के चार जख्म प्राप्त हुए हैं। पुलिस अपराधियों की पहचान और गिरफ्तारी में जुट गई है। घटना में शामिल अपराधी जल्द ही पुलिस के गिरफ्त में होंगे।