बैंक से रूपये निकालने गई महिला की मौत

188
0
SHARE

पूर्णिया – बिहार के पूर्णिया जिला के रुपौली में बैंक से रुपये नहीं मिलने की वजह से गई एक बुजुर्ग महिला की जान। 10 दिनों से लगा रही थी बैंक के चक्कर।

दरअसल रुपौली सेंट्रल बैंक की शाखा में रूपया निकासी के लिए आई महिला की मौत हो गई| महिला दस दिनों से पैसे निकालने के लिए बीमार हालत मे अपने बेटे के साथ बैंक आ रही थी| कैश की क़िल्लत के कारण उसके घर वाले महिला को इलाज के लिए बाहर नहीं ले जा रहे थे| सेंट्रल बैंक की रुपौली शाखा में महिला के नाम से ही खाता है| जिस कारण घर वाले मजबूरी में उक्त महिला को अपने घर से ऑटो पर लाद कर बैंक ले जा रहे थे|

परिजनों के मुताबिक़ बैंक के अधिकारी ने कैश की किल्लत बता कर महिला को वापस करते रहे| गुरूवार को जब स्थिति नाजुक हो गई तो नूरजहाँ खातून को उसके घर वाले ने ऑटो मे लादकर बैंक पहुँच गए| महिला को ऑटो में ही छोड़ कर परिजन बैंक जाकर अधिकारी से हाथ जोड़कर मिन्नत करने लगे कि उसे सत्रह हजार रुपये आज किसी भी तरह व्यवस्था कर देने की कृपा करें| जिससे कि वह अपनी माँ का इलाज करा सके| लेकिन बैंक में मौजूद अधिकारियों ने घर वालों की एक नहीं सुनी|घंटो महिला बैंक के बहार ऑटो पर जिन्दगी और मौत से जूझती रही| काफी आरजू मिन्नत के बाद बैंक से एक कर्मी बहार आकर महिला की स्थिति देख पांच हजार रुपये देने को राजी हुए| लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी| जैसे ही बैंककर्मी अन्दर गए कि महिला की स्थिति बिगड़ गई|

आनन-फानन में घर वाले महिला को रेफरल अस्पताल ले गए जहां ड्यूटी पर तैनात डॉ ने उन्हें मृत घोषित कर दिया| वहीँ बैंककर्मी स्थिति की नजाकत को भांपते हुए महिला द्वारा निकासी फॉर्म पर भरे सत्रह हजार रुपये निकासी कर उसके अन्य परिजन के हाथों में थमा दिया| महिला नूरजहां मैनी संथाल गाँव की रहने वाली है|

घटना से आक्रोशित होकर लोगों ने हंगामा किया| रुपौली-कुर्सेला मार्ग को जाम कर दिया|